mart

मुंबई: मराठा आरक्षण आंदोलन के दो साल पूरे होने पर मांगों के पूरा न होने के चलते मराठा संगठनो ने आज पूरे महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है। हालांकि रली और नवी मुंबई को बंद से दूर रखा गया है।

सकल मराठा समाज के नेता अमोल जाधवराव ने कहा, ‘यह राज्यव्यापी बंद होगा, जिसमें नवी मुंबई शामिल नहीं होगा. बंद से सभी आवश्यक सेवाओं, स्कूलों और कॉलेजों को अलग रखा गया है।’ उन्होंने कहा, ‘कुछ संवेदनशील मुद्दों के कारण हमने नवी मुंबई में बंद नहीं करने का निर्णय किया है।’

Loading...

बता दें कि महाराष्ट्र के कुछ हिस्से खासकर नवी मुंबई के कोपरखैरने और कलमबोली में पिछले महीने मराठा आरक्षण आंदोलन के दौरान हिंसा हुई थी। जाधवराव ने कहा, ‘सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक शांतिपूर्ण प्रदर्शन होगा। मैं मराठा युवकों से अपील करता हूं कि आत्महत्या नहीं करें। इससे समुदाय और इसके हितों को सहयोग नहीं मिलेगा।’

mara

वहीं बंद से पहले महाराष्ट्र के राजस्व मंत्री चन्द्रकांत पाटिल ने मराठा आरक्षण के पक्ष में प्रदर्शन कर रहे लोगों की आकांक्षाओं पर पानी फेरते हुए कहा कि उनकी मांगों के संबंध में 15 नवंबर तक कोई फैसला नहीं लिया जा सकता। उन्होंने कहा है कि मराठा समुदाय को आरक्षण देने के संबंध में समयबद्ध कार्यक्रम पेश करने की जिम्मेदारी महाराष्ट्र राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग को सौंपी गयी है, जो अपनी रिपोर्ट 15 नवंबर को देगा।

मराठा समाज पिछड़ा वर्ग के तहत सरकारी नौकरी, शिक्षा के क्षेत्र में 16% आरक्षण की मांग कर रहा है। पिछले दो सालों से महाराष्ट्र में ये आंदोलन चल रहा है। महाराष्ट्र में मराठा आबादी 33% यानी करीब चार करोड़ है।  इस आंदोलन का नेतृत्व मराठा क्रांति मोर्चा कर रहा है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें