संविधान निर्माता डॉ भीमराव आंबेडकर की जयंती पर लगायें गए उनके पोस्टर्स को फाड़े जाने और आग लगाये जाने पर उतराखंड के रुड़की में हिंसा भड़क गई. जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए.

दरअसल शुक्रवार सुबह दलित समुदाय के लोगों कोआंबेडकर के पोस्टर, बैनर फटे होने के साथ-साथ जले हुए भी मिले. जिसके बाद नाराज लोगों ने मुंदर गांव में कई वाहनों में आग लगा दी. एक अधिकारी ने कहा कि आंबेडकर की 126वीं जयंती पर लगाए गए पोस्टरों को कुछ अज्ञात लोगों ने गुरुवार रात फाड़ने के बाद जला दिया था.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि खबर फैलते ही गुस्साए लोग सड़कों पर आ गए, लेकिन पुलिस ने भीड़ को शांत कर दिया था. लेकिन नाराज लोग अगले दिन शुक्रवार को फिर सड़कों पर उतर आए और उन्होंने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की. इसमें एक सर्किल अधिकारी और कई अन्य पुलिसकर्मी घायल हुए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस अधिकारी का कहना हैं कि गांव में सुरक्षाबलों की तैनाती बढ़ा दी गई है. हालात फिलहाल नियंत्रण में है. हालांकि आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई हैं.

Loading...