मंगलुरु: बजरंग दल के एक पूर्व नेता और जिला अध्यक्ष को कर्नाटक पुलिस ने मवेशियों की तस्करी और अवैध बिक्री में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान अनिल प्रभु के रूप में की गई है जो बजरंग दल के पूर्व करकला जिला अध्यक्ष थे।

अनिल प्रभु की गिरफ्तारी पशु तस्करी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार मुहम्मद यासीन नाम के व्यक्ति से पुलिस की पूछताछ के बाद हुई। पूछताछ के दौरान यासीन ने कबूला कि प्रभु भी उसके साथ शामिल था।

प्रभु और यासीन कथित रूप से आवारा पशुओं की चोरी करते थे और उन्हें बूचड़खानों को बेच देते थे।

बजरंग दल के पूर्व नेता बूचड़खानों से संरक्षण राशि प्राप्त करते थे। बजरंग दल ने स्पष्ट रूप से कहा है कि प्रभु अब संगठन से नहीं जुड़े थे।

अनिल प्रभु उडुपी जिले के करकला तालुक में बजरंग दल के एक पद पर काम किया करता था। फिलहाल पुलिस ने अनिल को ज्युडिशियल कस्टडी में भेज दिया है।