mang1

कर्नाटक के मेंगलुरु शहर में भगवा गुंडागर्दी का मामला सामने आया है. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने दो हिन्दू लड़कियों को इसलिए बुरी तरह से पीटा क्योंकि उन्होंने अपने मुस्लिम दोस्त के साथ मुलाक़ात की. इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है.

मेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर टी आर सुरेश का कहना है कि शहर के पूर्वोत्तर इलाके में स्थित पिलिकुला में लड़कियों पर हमला किया गया। हमला करने वालों ने बजरंग दल का कार्यकर्ता है. मेंगलुरु पुलिस ने आईपीसी की धारा 506 (आपराधिक धमकी), 342 (गलत इरादे से रोकना) और 355 (अपमान करने के इरादे से हमला) के तहत आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

पुलिस कमिश्नर ने बताया, दोनों लड़कियां मेंगलुरु से 23 किलोमीटर दूर तालीपड़ी इलाके में स्थित प्री यूनिवर्सिटी कॉलेज की छात्रा है. इन दोनों लड़कियों ने अपने मुस्लिम दोस्त से मुलाकात की थी. जिसके चलते इन दोनों को पीटा गया. हम इस मामले की जांच कर रहे हैं.’ इस मामले में पुलिस का भी हाथ बताया जा रहा है. 20 दिसंबर को सुब्रमण्यम मंदिर के पास अपने मुस्लिम दोस्त के साथ टहल रही पुलिस पहले उन्हें थाने ले गई थी. इस मामले में राज्य के गृह मंत्री ने आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिये हैं.

इस वीडियो में महिला कहती दिख रही है “हाय, मैं अनुषा बोल रही हूं. सुब्रमण्या में जो वारदात हुई, उससे मेरा कोई सम्बन्ध नहीं है. हम दोनों सिर्फ दोस्त हैं. मैंने मंदिर के पास सिर्फ उसे मिलने के लिए बुलाया था. हम दोनों ने एक फ़िल्म में साथ काम किया है. इसीलिये मैंने उसे बुलाया. मैं उसे अपने साथ पूजा करने ले जाना चाहती थी लेकिन कुछ लोगों ने विरोध कर दिया. जिसके बाद मुझसे मेरी आईडी कार्ड के बारे में पूछा गया. मेरे पास कोई आईडी प्रूफ नहीं था. इतने में पुलिस आ गई और मुझे स्टेशन ले गई. मेरे दोस्त को भी वहां बुलाया गया. उसे अपनी बात रखने का मौका भी नहीं दिया गया और पुलिस उसे बेहरहमी से पीटने लगी.

महिला ने आगे कहा, पिछले कुछ दिनों से लगातार ये खबर बढ़ती जा रही है. मुझे लगा कि सब शान्त हो जाएगा लेकिन ये बढ़ता ही जा रहा है. इसीलिए मैं आपको सच बताना चाहती हूं. मैंने सिर्फ उसे मिलने के लिए बुलाया था, सिर्फ इस बात पर उसकी पिटाई कर दी गई. पुलिस स्टेशन में मुझ पर दबाव डाला गया कि मैं उसके खिलाफ बोलूं, नहीं तो मुझ पर आतंकी होने का झूठा मुकदमा चलाया जाएगा. इतना ही नहीं, पुलिस ने मेरी बहन की शादी को रुकवा देने की धमकी भी दी. इसलिए मैंने केस किया. हम सिर्फ दोस्त हैं. हम दोनों के रिश्ते को लेकर झूठी खबर फैलाई गई जिसके चलते हम दोनों का करियर खराब हो रहा है.”

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें