mand11

मध्यप्रदेश के मंदसौर मे आठ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म के मामले मे पुलिस ने तीन सदस्यीय मेडिकल बोर्ड से अनुमति मिलने के बाद पीड़ित बच्ची के बयान दर्ज किए है।गुरुवार शाम धारा 164 के तहत बंद कमरे में मजिस्ट्रेट वर्षा शर्मा के समक्ष बच्ची के बयान हुए।

गुरुवार को पीडियाट्रिक सर्जन डॉ. ब्रजेश लाहोटी, स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. सुमित्रा यादव और डॉ. कौस्तुभ के मेडिकल बोर्ड की मंजूरी के बाद शाम को मजिस्ट्रेट ने करीब 15 मिनट तक बच्ची से बात की और पूरा घटनाक्रम सुना।

सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने बताया कि इस दौरान महिला डीएसपी लक्ष्मी सेतिया भी मौजूद थीं। बच्ची ने बताया कि दो लोगों ने उससे ज्यादती की है जिन्हें सामने आने पर वह पहचान सकती है। सीएसपी ने बताया बयान बच्ची की मां की उपस्थिति में लिए। इस दौरान वीडियाे रिकाॅर्डिंग भी कराई गई।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

mand

मंदसौर एसपी मनोज सिंह ने कहा कि हमने पूरी तैयारी कर ली है, केवल बच्ची के बयान होने का इंतजार था। अब बच्ची के बयान हो गए हैं, इसलिए हम दो से तीन दिन में कोर्ट में चालान पेश कर देंगे। आरोपियों को फांसी की सजा मिले, इसे लेकर पुलिस ने मौखिक, दस्तावेजी, भौतिक व वैज्ञानिक साक्ष्य जुटा लिए हैं।

दूसरी और आरोपी इरफान पिता जहीर व आसिफ पिता जुल्फिकार की रिमांड अवधि खत्म होने पर गुरुवार शाम 6 बजे न्यायाधीश पाक्सो स्पेशलिस्ट निशा गुप्ता अजाक थाने पहुंची। उन्होंने आरोपियों को जेल भेजने के निर्देश दिए।

Loading...