Saturday, September 25, 2021

 

 

 

मंदसौर रेप केस: आरोपियों के डीएनए नमूने जांच के लिए भेजे गए, अब होगा HIV टेस्ट

- Advertisement -
- Advertisement -

मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की बच्ची के साथ गैंगरेप के मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपियों के डीएनए नमूने जांच के लिए सागर स्थित लैबरेटरी में भेज दिए गए हैं। हालांकि पुलिस अब उनका HIV टेस्ट कराने की तैयारी कर रही है।

मंदसौर जिले के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने रविवार को बताया, ‘आरोपी इरफान (20) और आसिफ (24) के डीएनए सैंपल सागर स्थित लैबरेटरी में कल जांच के लिए भेजे गए हैं। दोनों आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं।’

मनोज कुमार सिंह ने कहा कि घटना की जांच के लिए मंदसौर नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ला की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। सिंह ने कहा कि एसआईटी में लीगल एडवाइजर को भी रखा गया है। उन्होंने बताया, ‘पीड़ित बच्ची ठीक हो जाए तो इस मामले में जल्दी ही चालान पेश कर दिया जाएगा। बस बच्ची के बयान का इंतजार है। साक्ष्य जुटा लिए गए हैं।’

mand

पुलिस अब दोनों आरोपियों का एचआईवी टेस्ट करवाएगी। पुलिस को शक है कि ये दोनों सीरियल ओफेंडर हो सकते हैं। ऐसे में उनके एचआईवी टेस्ट के बाद बच्ची की इलाज के लिए जरूरी कदम उठाया जा सके।

पुलिस अधीक्षक सिटी (एसपी) राकेश मोहन शुक्ला ने कहा कि इस मामले की जांच हमारी प्राथमिकता में है. जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया गया है। आरोपी को पुलिस रिमांड में भेजा गया है। हम उन्हें सजा देने के लिए सब कुछ कर रहे हैं।शुक्ला ने बताया, ‘इस घटना में पुलिस ने 70 प्रतिशत जांच पूरी कर ली है। खून लगे कपड़े, वारदात में उपयोग किया गया चाकू, बच्ची का स्कूल बैग आदि बरामद कर लिया गया है। हम ये प्रमाण न्यायालय में प्रस्तुत करेंगे।’

शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने बच्ची की मां का बयान ले लिया है। मां ने पुलिस को बताया कि बच्ची बता रही है कि दो ही लोग थे। उन्होंने कहा कि मंदसौर से रविवार को पुलिस दल पीड़ित बच्ची के बयान लेने और उससे मिलने इंदौर गया है, जहां उसका इलाज शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) में किया जा रहा है।

शुक्ला ने कहा कि स्थानीय अदालत ने दोनों आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा है। इरफान को 27 जून को गिरफ्तार कर अगले दिन थाने पर लगाई गई प्रथम न्यायिक मजिस्ट्रेट शबनम कादिर मंसूरी की अदालत में पेश किया गया था, जहां से उसे दो जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेजा गया है, जबकि आसिफ को 29 जून को गिरफ्तार कर कल मंसूरी की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पांच जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles