mand1

मध्य प्रदेश के मंदसौर में सात साल की बच्ची के साथ गैंगरेप के मामले में गिरफ्तार दोनों आरोपियों के डीएनए नमूने जांच के लिए सागर स्थित लैबरेटरी में भेज दिए गए हैं। हालांकि पुलिस अब उनका HIV टेस्ट कराने की तैयारी कर रही है।

मंदसौर जिले के पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने रविवार को बताया, ‘आरोपी इरफान (20) और आसिफ (24) के डीएनए सैंपल सागर स्थित लैबरेटरी में कल जांच के लिए भेजे गए हैं। दोनों आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं।’

मनोज कुमार सिंह ने कहा कि घटना की जांच के लिए मंदसौर नगर पुलिस अधीक्षक राकेश मोहन शुक्ला की अध्यक्षता में विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है। सिंह ने कहा कि एसआईटी में लीगल एडवाइजर को भी रखा गया है। उन्होंने बताया, ‘पीड़ित बच्ची ठीक हो जाए तो इस मामले में जल्दी ही चालान पेश कर दिया जाएगा। बस बच्ची के बयान का इंतजार है। साक्ष्य जुटा लिए गए हैं।’

mand

पुलिस अब दोनों आरोपियों का एचआईवी टेस्ट करवाएगी। पुलिस को शक है कि ये दोनों सीरियल ओफेंडर हो सकते हैं। ऐसे में उनके एचआईवी टेस्ट के बाद बच्ची की इलाज के लिए जरूरी कदम उठाया जा सके।

पुलिस अधीक्षक सिटी (एसपी) राकेश मोहन शुक्ला ने कहा कि इस मामले की जांच हमारी प्राथमिकता में है. जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया गया है। आरोपी को पुलिस रिमांड में भेजा गया है। हम उन्हें सजा देने के लिए सब कुछ कर रहे हैं।शुक्ला ने बताया, ‘इस घटना में पुलिस ने 70 प्रतिशत जांच पूरी कर ली है। खून लगे कपड़े, वारदात में उपयोग किया गया चाकू, बच्ची का स्कूल बैग आदि बरामद कर लिया गया है। हम ये प्रमाण न्यायालय में प्रस्तुत करेंगे।’

शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने बच्ची की मां का बयान ले लिया है। मां ने पुलिस को बताया कि बच्ची बता रही है कि दो ही लोग थे। उन्होंने कहा कि मंदसौर से रविवार को पुलिस दल पीड़ित बच्ची के बयान लेने और उससे मिलने इंदौर गया है, जहां उसका इलाज शासकीय महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय (एमवायएच) में किया जा रहा है।

शुक्ला ने कहा कि स्थानीय अदालत ने दोनों आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा है। इरफान को 27 जून को गिरफ्तार कर अगले दिन थाने पर लगाई गई प्रथम न्यायिक मजिस्ट्रेट शबनम कादिर मंसूरी की अदालत में पेश किया गया था, जहां से उसे दो जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेजा गया है, जबकि आसिफ को 29 जून को गिरफ्तार कर कल मंसूरी की अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पांच जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेजा गया है।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?