पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच एनआरसी के मुद्दे पर जारी राजनीति के बीच कोलकाता की मशहूर नाखोदा मस्जिद के इमाम मौलाना शफीक कासमी ने मुसलमानों से नागरिकता संबंधी कागजात संभाल कर रखने की अपील की।

कासमी ने शनिवार को बताया कि उन्होंने शुक्रवार की नमाज के बाद समुदाय के लोगों से उक्त अपील की है। उन्होंने कहा कि समुदाय के हर व्यक्ति को वोटर कार्ड, आधार कार्ड, जमीन के दस्तावेज और संपत्ति के उत्तराधिकार से संबंधित कागजात तैयार रखने चाहिए, ताकि जरूरत पड़ने पर उनको पेश किया जा सके।

इमाम ने कहा कि दूसरी मस्जिदों के इमामों को भी ऐसी अपील करनी चाहिए। इसके साथ ही सोशल नेटवर्किंग साइटों के जरिये भी इस मुद्दे पर जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए।

nrc 650x400 81514750773

बता दें कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में अवैध बांग्लादेशियों का हवाला देकर एनआरसी लागू करने पर जोर दे रही है। वहीं टीएमसी इस का विरोध कर रही है। असम में जिन 40 लाख लोगों के नाम एनआरसी से बाहर किया गया हैं उनके बारे में ममता बनर्जी कह चुकी है कि नेहरू-लियाकत पैक्ट, इंदिरा पैक्ट के मुताबिक वे भारतीय नागरिक हैं।

ममता ने मोदी सरकार को चुनौती दी कि हिम्मत हो तो केंद्र ऐसी ही कवायद बंगाल में करके दिखाए। तृणमूल छात्र परिषद (तृणमूल कांग्रेस की छात्र शाखा) की स्थापना दिवस के अवसर पर एक रैली को संबोधित करते हुये ममता ने कहा, ‘‘हम बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की अनुमति नहीं देंगे। हम बंगाल टाइगर्स हैं। यदि किसी भारतीय नागरिक को विदेशी करार दिया जाता है, तो हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’’