उत्तरप्रदेश के अमेठी से लगने वाले गांव महूना में एक ही परिवार के 11 सदस्यों के सामूहिक हत्याकाण्ड को जमीयत उलेमा-ए-हिन्द ने एक साजिश करार देते हुए इसकी सीबीआई जांच की मांग की.

जमीयत प्रमुख ने मौलाना मदनी ने इस बारें में कहा है कि एक साल पहले महाराष्ट्र के ठाणे में और अब यूपी में इस तरह की घटनाओं ने समाज के सामूहिक चेतना को झकझोर दिया है और हमारे सामाजिक दायित्वों को आकर्षित किया है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. उन्होंने आगे कहा कि हमें समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा तथा ऐसी घटनाओं को होने से रोकने के लिए समाज के हर व्यक्ति को आगे आने की जरूरत है.

जमीयत उलेमा-ए-हिन्द का एक प्रतिनिधिमंडल मौलाना महमूद मदनी के निर्देश पर 6 जनवरी को घटनास्थल पर पहुंचा. इस प्रतिनिधिमंडल ने घटनास्थल के हालातानुसार कहा कि इस घटना को आत्महत्या के नजरिये से देखा जाना काफी नहीं हैं. इस घटना पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

साथ ही जमीयत उलेमा हिन्द की तरफ से कहा गया कि उनका संगठन पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने और उन्हें हर तरह से सहयोग देने को तैयार है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें