bhu

वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को महिमामंडित करने वाले नाटक के मंचन को लेकर हंगामा शुरू हो गया है. इस मामले में पुलिस शिकायत करने वाले छात्र के साथ मारपीट की गई है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, मंगलवार शाम बीएचयू के केएन उड्प्पा ऑडोटोरियम में “मी नाथू राम गोडसे बोलतोय” के हिंदी संस्करण का मंचन हुआ था. जिसके जरिए आयोजनकर्ताओं ने महात्मा गांधी की हत्या को सही ठहराने की कोशिश की थी.

इस नाटक के विरोध में बीएचयू के शोध छात्र विकास सिंह ने पूरे मामले को लेकर लंका थाने में तहरीर दी. जिसके चलते उसके साथ कथित तौर पर मारपीट भी की गई. घायल छात्र ने लंका थाने में 5 छात्रों को नामजद करते हुए मुकदमा भी दर्ज कराया है.

छात्र ने कहा कि साढ़े चार मिनट के नाटक का वीडियो साक्ष्य के रूप में मेरे पास है। पुलिस चाहे तो मुझसे ले सकती है। ड्रामे में गांधी की हत्या की तुलना रावण से भी की जा रही है. छात्र ने अपनी शिकायत में कहा है, ‘देश के संवैधानिक मूल्यों को चोट पहुंचाने वाले कार्यक्रम की इजाजत किस तरह से दी जा सकती है? यह किसी बड़ी साजिश का संकेत लग रहा है. अदालत से मौत की सजा पा चुके आतंकी गोडसे को महिमामंडित करना देश की एकता और गरिमा को चोट पहुंचाने वाली बात है और यह किसी देशद्रोह से कम नहीं है.

हालांकि इस मामले में बीएचयू ने नाथू राम गोडसे का एक्ट करने वाले छात्र को पूरे मामले में क्लीनचिट दे दी है. इस बारे में बीएचयू की चीफ प्राक्टर रॉयना सिंह का कहना है कि हमारी कमेटी ने मामले की जाँच की है. ये सिर्फ एक ड्रामा प्ले किया गया था. स्टूडेंट इनोसेंट है. उससे बात की गई तो उसने बताया यू ट्यूब पर उसने ड्रामे को देखा था. वहीं से इसने प्ले का मन बनाया. उसका मकसद किसी भी तरह से गांधी जी के अपमान करना नहीं था. लिखित रिपोर्ट जल्द ही थाने भेज दिया जाएगा. कुछ लोग जबरदस्ती बात को बढ़ाने के लिए बाते बना रहे हैं.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें