हिंगोली: गुरुवार को गणतंत्र दिवस के मौके पर महाराष्ट्र के हिंगोली जिले की बास्मत तहसील में दलित-अल्पसंख्यकों पर बड़ते हमलों के खिलाफ दंगा मुक्त महाराष्ट्र अभियान को लेकर एक विशाल रैली का आयोजन किया गया. इस रैली में जेएनयू से लापता मुस्लिम छात्र नजीब अहमद की माँ फातिमा नफीस ने भी हिस्सा लिया.

ग्रेट टीपू सुल्तान ब्रिगेड की और से आयोजित की गई इस रैली का मुख्य उद्देश्य दलित और अल्पसंख्यकों के ऊपर लगातार योजना बद्ध तरीके से हो रहे हमलों जैसे पुणे में मोहसिन शेख की हत्या, रोहित वेमुला की संस्थागत हत्या, नजीब के ऊपर हमला और उसे गायब करने की घटना, के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराने के साथ दलित-अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग करना था.

सुबह टीपू सुल्तान चौक से शुरू हुई यह रैली शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए जिला परिषद् ग्राउंड में एक सभा के रूप में संपन्न हुई. जिला परिषद् ग्राउंड में सामाजिक कार्यकर्ताओं ने सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ लचर तरीका अपनाने को लेकर सरकार और उसकी एजेंसियों की निंदा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नजीब के मामले में दिल्ल्ली पुलिस की आलोचना करते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस मुख्य अभियुक्तों को बचा रही हैं. नजीब की माँ फातिमा नफीस ने कहा कि दिल्ली पुलिस की कार्यवाई बेहद निराशाजनक है. जिन लोगों ने उनके बेटे के ऊपर जानलेवा हमला किया था वे आज भी आज़ाद घूम रहे हैं और जांच के नाम पर उनके करीबियों और रिश्तेदारों को परेशान किया जा रहा.

Loading...