Sunday, September 19, 2021

 

 

 

राजस्थान: चुनाव से ठीक पहले रामगढ़ में महापंचायत, लव जिहाद के नाम पर जमकर बवाल

- Advertisement -
- Advertisement -

अलवर। राजस्थान में अलवर जिले के रामगढ़ में सर्व हिंदू समाज संगठन के बैनर तले आज मस्ताबाद गांव से एक युवती को भगाने से जुड़े मामले में महापंचायत की गई। इस दौरान जमकर बवाल हुआ।

महापंचायत के दौरान भगवा संगठनों ने पुलिस-प्रशासन पर पथराव कर दिया और अलवर-भरतपुर मार्ग वाहनों में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। पुलिस ने इस मामले में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। शाम को कामां के पूर्व विधायक जगतसिंह भी जुगरावर पहुंचे। इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है।

गौरतलब है कि रामगढ़ थाना क्षेत्र के गांव मस्ताबाद की एक युवती एक दिसंबर को लापता हो गई। परिजनों को जब पता चला कि युवती ने दूसरे समुदाय के लड़के से शादी कर ली है, तो उन्होंने 12 दिसंबर को आजिद पुत्र आंसू खां निवासी मेव-खेड़ा थाना रामगढ़ व अहमद खान निवासी आलमपुर के खिलाफ बहला-फुसलाकर अपहरण कर ले जाने का मामला दर्ज कराया। इसमें कार्रवाई नहीं हुई तो पीड़ित पक्ष ने पुलिस के खिलाफ यह महापंचायत बुलाई थी।

रामगढ़ एसडीएम पंकज शर्मा ने पंचायत में बताया कि युवती ने मर्जी से निकाह किया है। यह निकाह कोर्ट में रजिस्टर्ड भी हुआ है। चंडीगढ़ हाइकोर्ट के निर्देश पर युवती को हरियाणा में सेफ हाउस भेजा गया है। प्रशासन के लिए उसे लाना संभव नहीं है। इसके बाद प्रतिनिधि मंडल ने पंचायत में पुन: चर्चा शुरू कर दी लेकिन असंतुष्ट लोगों ने एसडीएम से कलेक्टर और एसपी को मौके पर बुलाने की मांग की। एसडीएम ने कहा कि युवती की उम्र संबंधी काेइ दस्तावेज है और वह नाबालिग हो ताे न्यायालय से ही राहत मिल सकती है।

इसी बीच वहां मौजूद युवकों ने हंगामा कर भरतपुर मार्ग पर पहुंच जाम लगाने का आह्वान कर दिया। इससे भीड़ बिखर गई और खेतों के रास्ते सैकड़ों लोग करीब दो किमी दूर रोड पर पहुंच गए। पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो लोगों ने उन पर पथराव शुरू कर दिया। बड़ौदामेव थाना पुलिस ने आरपीएस हेमंत कुमार की ओर से नामजद व कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ राजकार्य में बाधा, पथराव व सरकारी संपत्ती को नुकसान पहुंचाने के मामले दर्ज किए हैं।

एसडीएम पंकज शर्मा ने कहा, उपद्रव करने के मामले में तीन युवक मौके से पकड़े थे। इनमें से एक को निर्दोष मिलने पर छोड़ा गया। जबकि दो को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। महापंचायत की वीडियो से भड़काऊ भाषण देने वालों, ‌पुलिस व सार्वजनिक व निजी वाहनों को नुकसान पहुंचाने वालों की पहचान कर मुकदमे दर्ज करने की कार्रवाई कर रहे हैं। स्थिति नियंत्रण में है।

बता दें कि रामगढ़ में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के उम्मीदवार लक्ष्मण सिंह का हार्ट अटैक से निधन हो जाने से विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना बाकी है। ऐसे में इस मामले को टूल देकर सांप्रदायिक धुर्विकरण करने की कोशिश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles