मध्य प्रदेश: कांग्रेस विधायक के समर्थकों ने कमरे में बंद कर की दलित की पिटाई

11:55 am Published by:-Hindi News

मध्य प्रदेश के छतरपुर में दबंगों ने मिलकर की एक दलित लड़के की बुरी तरह पिटाई कर दी। इस पिटाई का LIVE वीडियो कैमरे में कैद हो गया।  हमलावर विधायक की धौंस दिखाकर  दबंगई कर रहे थे। यह मामला महाराजपुर थाना क्षेत्र के नाथपुर का है।  यहां से नीरज दीक्षित कांग्रेस से क्षेत्रीय विधायक हैं।

जानकारी के मुताबिक मामला महाराजपुर थाना क्षेत्र के नाथपुर गांव का है जहां बच्चों के विवाद में नायक परिवार की महिलाओं, लड़कियों, सहित पुरुषों ने सेन परिवार के लड़के को कमरे के अंदर बंद करके बेरहमी से लाठी-डंडों से पीटा।
सरेआम चल रही इस दबंगाई का वीडियो गांव के ही एक लड़के ने छिपकर बना लिया।

पीड़ित की शिकायत पर महाराजपुर थाने में मामला तो दर्ज कर लिया गया था। लेकिन नायक परिवार ने अपनी पहुँच और दबंगई के चलते पीड़ित पर ही झूठा केस दर्ज करवाकर राजीनामा का दबाव बना रहे हैं।

मिर्जापुर में दलित को होलिका में फेंका

बबुरा कलां गांव में बुधवार की रात पिता-पुत्र ने एक दलित वृद्ध को होलिका दहन में शामिल होने से मना किया और न मानने पर उन्हें होलिका में फेंक दिया। इससे वह झुलस गए। पीड़ित का पीएचसी में इलाज कराया गया। आरोपियों पर केस दर्ज कर लिया गया।

बबुरा कला गांव निवासी बृजलाल दलित (60) बुधवार रात साढ़े नौ बजे धरकार बस्ती में होलिका दहन के दौरान पास खड़े होकर पूजा कर रहे थे। उनका आरोप है कि इसी दौरान रघुनाथ सिंह गांव निवासी छोटेलाल और उनके बेटे राघवेंद्र सिंह आ गए और मुझे होलिका में शामिल न होने के लिए कहा। विरोध करने पर गाली गलौज करते हुए मुझे जलती होलिका में फेंक दिया। इससे बायां हाथ तथा पैर झुलस गया। इसके बाद ग्रामीण बृजलाल को पीएचसी ले गए। इलाज के बाद पीड़ित ने थाने में तहरीर दी।

beat

पुलिस ने शुक्रवार शाम छोटे लाल सिंह और राघवेंद्र सिंह के खिलाफ एससी, एसटी सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया। सीओ लालगंज प्रमोद कुमार का कहना है कि वृद्ध धक्के की वजह से गिर गए होंगे। हाथ-पैर झुलसा है। अगर वृद्ध को फेंकने की पुष्टि हुई तो आरोपियों पर और कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

दलित छात्र को पेड़ से बांध कर पीटा

उत्तरी गुजरात के मेहसाणा में कक्षा 12वीं के एक 17 वर्षीय दलित छात्र की पिटाई की खबर सामने आई है. कथित तौर पर 18 मार्च की दोपहर में दो लोगों ने छात्र को पेड़ से बांध दिया और निर्दयतापूर्वक उसकी पिटाई. छात्र की पिटाई के बाद की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. इन तस्वीरों में उसके शरीर पर चोट के निशान आ रहे हैं. वहीं, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले हुई इस घटना से दलित गुस्से में है.

पुलिस को दर्ज कराए गए मामले में पीड़ित का कहना है, मैं परीक्षा केंद्र के बाहर इंतजार कर रहा था इस दौरान राज्य परिवहन में बस कंडक्टर के तौर पर कार्यकरत रमेश पटेल मेरे पास आया और मुझसे कुछ काम होने की बात कही. उनसे मुझसे अपने साथ चलने को कहा, वह मुझे कहीं और लेकर गया जहां एक बाइक सवार पहले से इंतजार कर रहा था. इसके बाद दोनों ने मिलकर मुझे पेड़ से बांध दिया और इसके बाद दोनों ने मुझे डंडे से मारना शुरू किया.

पीड़ित का मां ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि मारने के पीछे कारण पूछने पर , उन्होंने कहा पीड़ित से कबा कि तुम्हें पढ़ना नहीं चाहिए ना यह परीक्षा देनी चाहिए , तुम जाकर मजदूरी करो। परिवार के मुताबिक पीड़ित ने बुधवार तक किसी को कुछ नहीं बताया था लेकिन जब इस उसकी मां ने पीठ पर घाव के निशान देखा तो उसे मेहसाना सिवील हास्पिटल लेकर गई और इसके बाद एफआईआर दर्ज कराई. इस मामले में पुलिस ने किसी को गिरफ्तार नहीं किया है.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें