मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले की पुलिस को ना किसी कानून की परवाह हैं ना ही मानवाधिकार की. पुलिस अपनी खाकी वर्दी के नशे में इतना चूर हो चुकी हैं कि उसके लिए क़ानूनी व्यवस्था कोई मायने नहीं रखती. ऐसा ही एक मामला उज्जैन के महिदपुर कस्बे में सामने आया हैं जिसने पुलिस के एक वीभत्स चेहरे को पेश किये हैं.

महिदपुर पुलिस ने अब्दुल कदीर नामक युवक के साथ ज्यादतियों की हद्दे ही समाप्त कर दी हैं. पुलिस ने कदीर को गंजा कर पुलिस जीप के बोनट पर रस्सी से बांधकर सरे बाजार जुलुस निकाला. इस दोरान पुलिस सरेआम उसको मारती गयी. उसको अपमानित करने के लिए उसका मुँह काला कर दिया गया और जुत्तो-चपलो की माला पहनाई गई.

सूत्रों के अनुसार युवक बाइक चोरी का आरोपी था. इस मामले में एडीजी वी मधुकुमार ने घटना पर गहरी नाराजी जताते हुवे महिदपुर थाने के एसआई मानसिंह चौधरी, आरक्षक मोहरसिंह, मेहरबानसिंह, प्रवीण कुशवाह, अखिलेश को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। मामले की जांच एसडीओपी आरके राय को सौंपी है।

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें