kisan

भोपाल: मंदसौर में किसानो पर पुलिस की गोलीबारी से पहले ही घिरी हुई शिवराज सरकार की मुसीबतें अब किसानों ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर फिर से बढ़ा दी है.

राजधानी भोपाल स्थित भेल दशहरा मैदान में 17 जनवरी से किसानो की अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल लगातार जारी है. ये भूख हडताल आवारा गायो को छोड़े जाने को लेकर दर्ज किये जा रहे मुकदमो सहित अन्य मांगों से जुडी हुई है.

रायसेन जिले के भौरा गांव से 170 किलोमीटर की साष्टांग दंडवत यात्रा कर ये किसान भोपाल पहुंचे है. आंदोलनरत किसानों का कहना है कि ‘‘दूध देना बंद कर चुकी गायों को आवारा छोड़ने वाले पशुमालिकों पर आपराधिक मुकदमा दर्ज करने सहित अपनी अन्य अहम मांगों के समर्थन में हम यहां अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि किसानों को उनकी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी मिलना चाहिये. आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को भी आरक्षण सुविधा दी जाये, ताकि मजदूर किसानों और छोटे व गरीब किसानों को इसका फायदा मिल सके. प्रदेश के सभी इलाकों किसान अब इस आंदोलन में शामिल हो रहे हैं.

वहीँ कांग्रेस ने आंदोलनकारी किसानों का समर्थन किया है. कांग्रेस नेता अजय सिंह ने आंदोलनकारी किसानों से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को किसानों की 33 सूत्रीय मांगों पर संज्ञान लेना चाहिये. उन्होंने कहा, ‘‘प्रदेश भाजपा सरकार द्वारा किसानों से किये गये वादे खोखले निकले हैं. किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम भी हासिल नहीं हो पा रहा है.