भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के विकास के दावो के बीच प्रदेश मे हर दिन भूख से 60 से ज्यादा बच्चों की मौत हो रही है।

जानकारी के अनुसार, राज्य में हर दिन 61 बच्चे भूख से मर रहे हैं। इन बच्चों की उम्र शून्य से पांच साल है। हर साल सिर्फ 1 साल तक की ही उम्र के लगभग 6,024 बच्चे भूख से मरते हैं। वहीं, एक से पांच वर्ष आयु के 1,308 बच्चों की मौत हुई है। इस तरह कुल 7,332 बच्चों की मौत हुई है।

महिला बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस की और से दी गई जानकारी मे सामने आया कि फरवरी 2018 से मई तक 120 दिनों में कम वजन के 1,183,985 बच्चे पाए गए, वहीं अति कम वजन के 103,083 बच्चे पाए गए।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले मे कांग्रेस विधायक रामनिवास रावत का कहना है कि राज्य सरकार ने कुपोषण दूर करने के तमाम दावे किए, मगर बच्चों को नहीं बचाया जा सका है, यह दुखद है. बीते 120 दिनों में 7,332 बच्चों की मौत से साफ होता है कि हर रोज 61 बच्चे मर रहे हैं।

मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री ने 14 सितंबर, 2016 को समीक्षा बैठक में श्वेत-पत्र जारी करने के निर्देश दिए थे, समिति का गठन किया जा चुका है, मगर समीक्षा के बिंदुओं का निर्धारण नहीं हो पाया है। श्वेत-पत्र के लिए समिति की बैठक भी नहीं हुआ।

Loading...