pateto

pateto

लखनऊ: आलू की कीमतों में गिरावट के चलते योगी सरकार के खिलाफ किसानों का गुस्सा उबाल पर है. जिसके चलते नाराज किसानों ने विधानसभा और सीएम हाउस के बाहर आलू फेंककर विरोध-प्रदर्शन किया. इसी के साथ किसानों ने राजधानी लखनऊ की सड़कों पर आलू फेंकने शुरू कर दिए.

दरअसल, किसानों का कहना है कि आलू की कीमत 4 रुपए मिल रही है जबकि उनकी मांग है कि कम से कम 10 रुपए प्रति किलो आलू के दाम मिले. किसानों ने रात को विधानसभा के अलावा राजभवन के बाहर भी बड़ी मात्रा में आलू फेंके. हालांकि इस दौरान पुलिस प्रशासन सोता नजर आया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

शनिवार सुबह जब सड़कों पर बड़ी  मात्रा में आलू देखकर पुलिस व प्रशासन के होश उड़ गए. कार्रवाई के डर से अधिकारी खुद से आलू उठवा रहे हैं. ध्यान रहे इससे पहले दिसंबर महीने में आगरा में भी किसानों ने पुराने आलू फेंककर प्रदर्शन किया था.

मंगलवार को ये मुद्दा लोकसभा में भी उठा. कांग्रेस ने आलू की पैदावार का किसानों को उचित मूल्य न मिलने का आरोप लगाते हुए सवाल किए थे. कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने सरकार से पूछा था कि किसानों को फसल का सही मूल्य दिलाने के लिए क्या कदम उठाए गए हैं?

जवाब में कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा था कि किसानों को समर्थन मूल्य दिलाने के लिए सरकार ने कदम उठाए हैं और इस संदर्भ में राज्यों से लगातार संपर्क भी रहा है.