crime-news-uttara-pradesh-india-six-people-molest-minor-girl

देश में बलात्कारियों को लेकर वकीलों के दो अलग-अलग चेहरे देखने को मिल रहे है. जहाँ कठुआ में वकीलों ने क्राइम ब्रांच को न केवल चार्जशीट दायर करने से रोका था बल्कि बार एसोसिएशन के तले अपना काम भी रोक दिया था.

वहीँ दूसरी तरफ अब इंदौर में चार माह की बच्ची के साथ रेप की घटना के विरोध में इंदौर बार एसोसिएशन ने किसी भी रेप आरोपी का केस लड़ने से इनकार की घोषणा की है.

बता दें कि चार माह की बच्ची के साथ रेप केमें आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी मासूम बच्ची के पिता का दोस्त निकला. बताया जा रहा है कि वह बच्ची की मां का मौसा है.

kathua gangrape 620x400

मामला एमजी रोड थाना के शिव विलास पैलेस का है. शुक्रवार सुबह एक चार महीने की बच्ची का शव मिलने से हड़कंप मच गया. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस के अनुसार बच्ची के प्राइवेट पार्ट से खून भी निकल रहा था. इसके बाद पुलिस ने शनिवार सुबह आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने घटना पर ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि इंदौर में बच्ची के साथ बलात्कार और हत्या. हैवानियत की भी हद है. समाज और देश कहॉं जा रहा है ? अपराधी को कड़ी से कड़ी सज़ा मिलनी चाहिए.

वहीँ मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने घटना को लेकर शिवराज सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा शिवराज जी,अब तो स्वीकार कर लीजिए कि मप्र रेप स्टेट बन गया है, आपके पसंद के शहर इंदौर में 4 माह की बच्ची भी सुरक्षित नही है!

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?