नई दिल्ल्ली: यूपी की नदवा यूनिवर्सिटी में सलमान नदवी के साथ कथित तौर पर मारपीट का मामला सामने आया है। दरअसल,सलमान नदवी पर पाठ्यक्रम से इतर विषय पढ़ाने का आरोप है।

NBT की रिपोर्ट के अनुसार, दारूल उलूम नदवा के वरिष्ठ शिक्षक मौलाना सलमान नदवी छात्रों को मुकदमा इब्ने फलाह विषय पढ़ाते हैं। मौलाना सलमान नदवी पर आरोप है कि उन्होंने अपनी मर्जी से पाठ्यक्रम में कई चीजें बढ़ा दीं। इसकी शिकायत छात्रों ने मदरसे के आला अधिकारियों से की। छात्रों की शिकायत के बाद नदवा कॉलेज प्रबंधन ने जांच के लिए पांच सदस्यीय कमिटी बनाई।

कमिटी ने जांच में छात्रों की शिकायत सही पाई। इसके बाद प्रबंधन ने मौलाना से उक्त विषय को लेकर छात्रों को पढ़ाने के लिए दूसरा विषय दे दिया गया। मौलाना सलमान नदवी के समर्थक मौलाना तौहीद आलम ने भी प्रबंधन का विरोध करना शुरू कर दिया। इस पर उनका तबादला नदवा कॉलेज से बुलाकी अड्डा स्थित मदरसा इस्लामिया कर दिया गया।

इसके बाद मौलाना सलमान नदवी मदरसे के आला जिम्मेदारों बात करने पहुंच गए। बातचीत के दौरान दोनों पक्षों के बीच तीखी झड़प शुरू हो गई। जब छात्रों को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने मौलाना सलमान नदवी के खिलाफ हंगामा करना शुरू कर दिया। इस दौरान मौलाना के पक्ष के छात्र भी मौके पहुंच गए और उन्होंने कक्षाएं बंद कराना शुरू कर दी। हालांकि बाद में प्रबंधन के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ।

बता दें कि नदवी पर पैसों के बदले राम मंदिर के समर्थन में बाबरी मस्जिद की जमीन की सौदेबाजी का कथित आरोप है। सलमान नदवी ने कहा था कि इस्लाम खुद किसी मस्जिद को शिफ्ट करने की अनुमति देता है, ऐसे में मुस्लिम समाज के लोगों को अमन की खातिर जमीन पर दावा छोड़ देना चाहिए और किसी दूसरी जगह पर बड़ी जमीन लेकर समझौता करना चाहिए।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन