r7gq42m4 kashmir kidnapped cops 625x300 01 september 18

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने चार जिलों शोपियां, कुलगाम, पुलवामा और अनंतनाग से पुलिसकर्मियों के कई करीबी रिश्तेदारों का अपहरण किया था। लेकिन शुक्रवार की शाम को आतंकवादियों ने तीन पुलिकर्मियों और पुलिसकर्मियों के आठ रिश्तेदारों को रिहा कर दिया।

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, आतंकवादियों ने इन लोगों को रिहा करने के साथ ही अगवा किये गये तीन पुलिस कर्मियों का वीडियो भी जारी किया। जिसमे वे डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस यानी डीजीपी से आतंकियों के परिवार को परेशान न करने की बता कह रहे है।

डीजीपी एसपी वैद से अगवा पुलिसकर्मी कह रहे है कि नागरिकों या सुरक्षा कर्मियों को आतंकवादियों के घरों को नष्ट न करने दें। एक वीडियो में देखा जा सकता है कि अगवा किया गया एक कॉन्स्टेबल डीजीपी वैद से यह गुहार लहा रहा है कि या तो आप हमें सुरक्षा दें या फिर हमें ऐसा कुछ भी करने के लिए मत कहें, क्योंकि इससे हमारा परिवार खतरे में पड़ जाता है।’

police 1535684945 618x347
Symbolic

एक अन्य वीडियो में दूसरा पुलवामा का एक पुलिसकर्मी यह कहता दिखाई दे रहा है कि वह अब आगे काम नहीं करना चाहता है। बता दें कि आतंकियों ने अनंतनाग जिले के अरवानी बिजबेहड़ा में रहने वाले आरिफ अहमद शंकर नाम के एक युवक को अगवा किया है, जिनके भाई नजीर अहमद यहां जम्मू-कश्मीर पुलिस में एसएचओ हैं। आतंकियों ने अरवानी से जुबैर अहमद भट का भी अपहरण किया है। इनके पिता मोहम्मद मकबूल भट जम्मू-कश्मीर पुलिस में हैं।

इसके अलावा कुलगाम जिले से आतंकियों ने खारपोरा निवासी पुलिसकर्मी बशीर अहमद के बेटे फैजान और येरीपोरा निवासी पुलिसकर्मी अब्दुल सलेम के बेटे सुमेर अहमद, काटापोरा के डीएसपी एजाज अहमद के भाई गौहर अहमद के भी अगवा किया। साथ ही मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में भी एक पुलिसकर्मी के रिश्तेदार की अगवा कर पिटाई की गई है।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें