30 अक्टूबर की रात को कथित तौर पर भोपाल सेंट्रल जेल से फरारी और उसकी अगले दिन सुबह शहर से 8 किमी दूर कथित 8 सिमी कार्यकर्ताओं के एनकाउंटर में मारे गए मोहम्मद खालिद की मां ने इस एनकाउंटर को मध्यप्रदेश पुलिस के हाथों सुनियोजित हत्याकांड करार देते हुए नवम्बर में मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की थी.

मध्यप्रदेश उच्च न्यायालय के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन व अंजुली पॉलो की खण्डपीठ में हो रही इस याचिका पर सुनवाई के दौरान अब एक नया मोड़ आ गया है. खालिद की ने कोर्ट मे वो ऑडियो फुटेज की सीडी पेश की है जिसमें भोपाल पुलिस फोर्स की कैदियों को पीछा करने के दौरान बातचीत का हिस्सा है.

इस मामले के वकील नईम खान ने अदालत को उस फुटेज की सीडी सौंप दी है. इस सीडी को अदालत में सौंपते के दौरान जिरह में कहा गया है कि इस बातचीत से ऐसा लगता है कि ये एक सोची समझी साजिश के तहत किया गया है. कहा जा रहा हैं कि फुटेज में भोपाल पुलिस हेडक्वार्टर और कैदियों का पीछा करने वाली पुलिस की बातचीत है.

सूत्रों के अनुसार, इस बातचीत में पुलिस से कहा जा रहा है कि वो वायरलेस फोन के बजाय खुद के मोबाइल से बात करें. अभियोजन पक्ष को लगता है ऐसा जानबुझकर इसलिए किया गया क्यों वो वायरलेस फोन से हुई बातचीत का रिकॉर्ड नहीं रखना चाहते थे.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें