kali the goddess navarathri golu dolls 15436444736

अंधविश्वास के चलते केरल के तिरूवनंतपुरम में एक मंदिर में इंसानी खून से काली की मूर्ति के स्नान की तैयारी की जा रही है. जिसे पर्यटन व देवास्वोम मंत्री कडकमपल्ली सुरेंद्रन ने रुकवा दिया है.

फेसबुक की एक पोस्ट में सुरेन्द्रन ने कहा कि विथुरा के एक मंदिर में मानव रक्त से प्रतिमा को स्नान कराने की सरकार अनुमति नहीं दे सकती. मंत्री ने पुलिस और जिला क्लेक्टर को इस रस्म को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने का भी निर्देश दिया.

उन्होंने कहा, ‘केरल समाज में प्राचीन रस्मों और परंपराओं को वापस लाने का यह एक प्रयास है. यह ना केवल अपमानजनक है बल्कि राज्य के लिए भी खतरनाक है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल, 12 मार्च से 23 मार्च तक चलने वाले कालीयूत त्योहार पर काली का रक्त अभिषेक की योजना है. मंदिर प्रशासन की तरफ से श्रद्धालुओं से खून दान की अपील भी की गई. मंदिर प्रशासन का कहना है कि खून जांच की सिरिंज के जरिए खून एकत्रित किया जा रहा है.

सुरेन्द्रन ने कहा कि ऐसी शिकायतें हैं कि मंदिर इस तरह के विविध रस्मों का एक केन्द्र है. उन्होंने कहा कि ये रस्में कथित तौर पर एक सांप्रदायिक संगठन के सहयोग से की जाती है और समाज के सभी वर्गों से ऐसे आदिम रिवाज के खिलाफ आगे आने का अनुरोध किया.

Loading...