केरल के मलप्पुरम में फैसल पी उर्फ अनील कुमार पुत्र अनंतम नायर की हत्या के मामलें में एक आरएसएस नेता को हिरासत में लिया गया हैं. आरएसएस कार्यकर्ताओं ने फैसल पी उर्फ अनील द्वारा इस्लाम धर्म अपनाने के कारण उसकी 19 नवंबर को हत्या को हत्या कर दी थी. इस मामले में अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. सभी आरोपी बीजेपी और आरएसएस से जुड़े हुए हैं.

हत्या से लगभग आठ महीने पहले ही फैसल पी उर्फ अनील कुमार ने रियाद में इस्लाम धर्म अपनाया था. दो महीने पहले अगस्त में छुट्टी पर घर आने के बाद, उसने अपनी पत्नी और तीन बच्चों का भी धर्म परिवर्तन कराया था. जिसके बाद से उसे लगातार धमकियां मिल रही थी.

गिरफ्तार हुआ मदाठिल नारायण केरल में संघ प्रचारक के साथ-साथ संगठन का कार्यवाहक भी है. पुलिस के अनुसार, नारायण ने ही फैजल की हत्या की सारी योजना बनाई थी. जिसके बाद फैसल के साले विनोद ने हरिदासन, शाजी, सुनीश और सजीश की मदद से फैसल की हत्या की थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

फैसल की मां मिनाक्षी के अनुसार, उसकी पत्नी के भाई ने कई बार उसे इस्लाम स्वीकार करने के कारण जान से मारने की धमकी दी थी. फैसल के पिता अनंतम नायर ने कहा, “वह अपनी मर्ज़ी से मुसलमान बना था. उस पर किसी ने दबाव नहीं बनाया था. यह उसका अपना फैसला था. लेकिन उसे जीने नहीं दिया गया.” हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि उसके इस फैसले से कुछ रिश्तेदार खुश नहीं थे.

पुलिस सूत्रों से नारायण के बारे में यह जानकारी मिली है की इससे पहले भी उस पर साल 1998 में एक पुरोहित, जिसने इस्लाम कबूल कर लिया था को जान से मारने का आरोप लग चुका है. हालांकि ट्रायल कोर्ट ने नारायण के अलावा पांच और लोगों को मामले से बरी कर दिया था. लेकिन हाई कोर्ट की तरफ से उन्हें उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी. लेकिन पिछले साल जुलाई में सभी आरोपी जेल से छूट गए जिसके पीछे क्या कारण था अभी तक सामने नहीं आया है.

Loading...