केरल के पलक्कड़ में 26 वर्षीय युवा मलयालम लेखक पी. जिमशर को इसलिए पीटा गया क्योंकि उनकी आने वाली किताब का शीर्षक ‘भगवान’ पर आधारित होने के कारण रविवार रात 4 अज्ञात लोगों ने हमला कर उन्हें बुरी तरह से पीटा. इस हमलें में जिमशर बुरी तरह घायल हो गए. जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है.

पी. जिमशर की लघु कहानियों का पहला संग्रह 5 अगस्त को रिलीज होने वाला है. संग्रह का नाम ‘पदाचोन्टे चित्रप्रदर्शनम’ है. मलयालम भाषा में ‘पदाचोन’ शब्द आम बोलचाल की भाषा में भगवान के लिए प्रयोग किया जाता है. इस किताब को लेकर जिमशर को पहले से ही धमकी भरे कॉल्स और वॉट्सऐप मेसेजेस मिल रहे थे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ मारपीट कर नुकसान पहंचाने का केस दर्ज किया है. इस्लामिक स्कॉलर मुजीद रहमान ने कहा कि यह घटना केरल में बढ़ती असहिष्णुता का ताजा उदाहरण है.

Loading...