नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को NDMC के State Law Officer शहीद मोहमद मुईन खान के परिवार से उनके घर जाकर मुलाकात की और उनका हाल चाल जाना उन्होंने शहीद के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक मदद, उनकी पत्नी को सरकारी नोकरी, बच्चों की शिक्षा का पूरा खर्च, सरकारी मकान और उनके साथ पूरी तरह से कानूनी लड़ाई लड़ने का भरोसा दिया

सरकार यह राशि ड्यूटी के दौरान शहीद हुए पुलिस और सैन्यकर्मियों को एक करोड़ रुपये मुआवजा देने की योजना के तहत देगी। योजना के नियमों के तहत मुख्यमंत्री ने विशेषाधिकार का इस्तेमाल करते हुए खान के परिवार को इस योजना के दायरे में रखा है। केजरीवाल ने एनडीएमसी अध्यक्ष नरेश कुमार के साथ खान के घर जाकर पीडि़त परिवार से मुलाकात की।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

केजरीवाल ने ट्वीट कर बताया कि खान एनडीएमसी के ईमानदार अधिकारी थे और अराजक तत्वों की गैरकानूनी मांग पूरी नहीं करने के कारण उनकी हत्या कर दी गई। उनके निधन से पीडि़त परिवार को जो क्षति हुई है उसकी भरपाई संभव नहीं है। लिहाजा सरकार सम्मान स्वरूप उनके परिवार को एक करोड़ रुपये देगी। इस दौरान एनडीएमसी की ओर से पीडि़त परिवार को आवास और किसी एक परिजन को नौकरी देने की भी जानकारी दी गई।

साथ ही आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे और स्थानीय आप विधायक अमानतुल्लाह खान की अगुवाई में पार्टी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर खान की मौत के मामले की उच्चस्तरीय जांच कराने की मांग की हैं। आप नेताओं से मुलाकात के बाद केन्द्र सरकार की तरफ से सिंह ने भी पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है।

Loading...