जम्मू के कठुआ जिले में मुस्लिम समुदाय से बदला लेने के मकसद से 8 साल की मासूम असीफा के साथ उग्र हिंदुवादियों ने मंदिर में दरिंदगी कर उसको मौत के घाट उतार दिया.

इस मामले में अब बच्ची को न्याय दिलाने के लिए लड़ रहे वकील पर उधमपुर शहर में जानलेवा हमला किया गया है. यह हमला शनिवार को किया गया है. बता दें कि पिछले दो महीने से स्थानीय वकील तालिब हुसैन असीफा को इंसाफ दिलाने के लिए लड़ रहे है.

वकील तालिब हुसैन की शिकायत पर पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है. हुसैन मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की मांग कर रहे जम्मू के वकीलों का जोरदार तरीके से विरोध कर चुके है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

asifa main 640x424

ध्यान रहे शनिवार को संयुक्त राष्ट्र ने भी इस मामले में कड़ी टिप्पणी करते हुए भारत सरकार को न्याय के लिए कदम उठाने को कहा है. साथ ही इस घटना को भयावह करार दिया.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सामूहिक दुष्कर्म और हत्या को ‘भयावह’ बताते हुए दोषियों को कानून के दायरे में लाए जाने की उम्मीद जाहिर की.

गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया कि उन्होंने घुमंतू बकरवाल समुदाय की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की खबरें देखी हैं. उन्होंने कहा कि हमें आशा है कि प्रशासन इस जघन्य अपराध के लिए जिम्मेदार दोषियों को कानून के दायरे में लाएगा.