हाल ही में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए लेफ्टिनेंट उमर फयाज के सम्मान में बेहियाबाग में स्थित आर्मी गुडविल स्कूल का नाम बदलकर शहीद लेफ्टिनेंट उमर फयाज के नाम पर किया गया.

उमर फयाज की इसी साल 10 मई को आतंकियों ने गोलियों से छलनी कर दिया था. फयाज दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले के रहने वाले थे और वह कुलगाम अपने रिश्तेदार की शादी में गए हुए थे. जहां से आतंकियों ने अगवा कर लिया था. बाद में शोपियां में उनका शव बरामद हुआ था.

कश्मीरी किसान के बेटे फयाज ने दिसबंर 2016 में आर्मी जॉइन की थी. इस दौरान लेफ्टिनेंट जनरल जेएस संधू ने कहा, ‘कश्मीर के लोग अब हमेशा आंदोलन और प्रदर्शन करने से थक चुके हैं. वे अपना जीवन शांति और सुकून से जीना चाहते हैं.

उन्होंने कहा, हम लोग कश्मीर में 27 साल से लड़ रहे हैं और अब धीरे-धीरे स्थिति नियंत्रण में आ रही है. हमें भरोसा है कि जल्द ही हम कश्मीर में शांति का माहौल स्थापित कर पाएंगे. इसी के साथ संधू ने बताया, लेफ्टिनेंट उमर फयाज की हत्या करने वालों की पहचान हो चुकी है. हम आरोपियों का ट्रायल कर रहे हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?