army iftar parties

जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में सेना द्वारा आयोजित इफ्तार दावत का विरोध उस समय हिंसक हो गया. जब विरोध कर रहे कुछ लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी और फिर सुरक्षा बलों की गोलीबारी में चार महिलाएं घायल हो गईं, जिसमें दो बहनें शामिल हैं.

दरअसल, सेना ने सद्धाव के तहत दक्षिण कश्मीर के सोपियां इलाके के डीके पुरा गांव में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था. यह आयोजन केंद्र सरकार के रमजान के दौरान घाटी में शांति और सद्भाव बहाली के लिए सीजफायर के हालिया निर्णय को ध्यान में रखते हुए किया गया था.

सेना इफ्तार पार्टी में बिरयानी समेत खानपान का अन्य सामान लेकर पहुंची थी, लेकिन स्थानीय लोगों ने इसे लेने से इनकार कर दिया. गांव वालों का कहना था कि उन्हें सेना द्वारा दी गई इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं होना है.

फाइल फोटो

सेना ने जब इफ्तार पार्टी में सबको शामिल होने का अनुरोध किया तो स्थानीय लोगों द्वारा इफ्तार पार्टी का विरोध हिंसक रूप लेने लगा. स्थानीय नागरिकों के हमले से बचाव के प्रयास में सेना को फायरिगं करनी पड़ी जिसमें पांच नागरिकों के घायल हो गए.

अब सेना के विरोध में पूरा गांव प्रोटेस्ट पर उतर आया है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना का संज्ञान लेते हुए जांच शुरू की गई है. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि घटना के बारे में विस्तृत जानकारी बाद में जारी कर दी जाएगी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?