bash

bash

3 जनवरी को मंगलुरु में भगवा कार्यकर्ताओं के हमले में गंभीर रूप से घायल हुए अहमद बशीर (47) का रविवार को इलाज के दौरान एक निजी अस्पताल में निधन हो गया.

ध्यान रहे कटीपील्ला में भाजपा कार्यकर्ता दीपक राव की हत्या के बाद अहमद बशीर पर कुछ लोगों ने धारदार हथियार से हमला किया था. वे गंभीर रूप से घायल अनजान लोगों को एक पूल पर पड़े हुए मिले थे. जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. जहाँ इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मंगलुरु के पुलिस कमिश्‍नर टीआर. सुरेश ने बताया कि गिफ्त्रार आरोपियों की पहचान श्रीजित पीके. (उप्‍पाला), संदेश कोटायम (कासरगोड़), धनुष पुजारी और किशन पुजारी (मंगलुरु निवासी भाई) के तौर पर की गई है.  तीन अन्‍य हमलावरों के बारे में जानकारी नहीं दी गई है.

बशीर की मौत के बाद से इलाके में तनाव फैला हुआ है. जिसकी वजह से बशीर के परिजनों ने जनाजा नहीं निकालने का निर्णय लिया और एक स्थानीय मस्जिद परिसर में उसे दफनाने का फैसला किया.

कर्नाटक के वन मंत्री रामनाथ राय ने हत्याओं के पीछे आरएसएस का हाथ होने का आरोप लगाया है. टीआर. सुरेश ने बताया कि पुलिस ने कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये सभी इंतजाम किए हैं.