उत्तरप्रदेश के कानपुर के चकेरी पुलिस स्टेशन की अहिरवां पुलिस चौकी में पुलिस हिरासत में एक दलित शख़्स की मौत के बाद बवाल मच गया है. इस मामलें में पूरी पुलिस चौकी को सस्पेंड कर पुलिस चौकी के सभी 14 पुलिसकर्मियों के खिलाफ अपहरण और हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है.

एएसपी शलभ माथुर ने बताया कि पुलिस हिरासत में दलित की मौत के मामले में आईपीसी सेक्शन की धारा 302 और एससी/एसटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, घटना के समय मौजूद स्टेशन इंचार्ज और अन्य पुलिस अधिकारियों को भी निलंबित कर दिया गया है.

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि कमल वाल्मीकि नाम के एक शख्स को चोरी के आरोप में दो दिन पहले पूछताछ के लिए पुलिस थाने लाई थी, जिसके बाद गुरुवार सुबह पुलिस चौकी में कमल का शव मिला. मृतक के परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस पिटाई की वजह से उसकी मौत हुई है. परिजनों ने पुलिस का विरोध करते हुए चौकी पर पथराव किया और सड़क जाम कर दी.

घटना की जानकारी मिलते ही आनन फानन में पुलिस के आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए और पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. आरोपी की मौत कैसे हुई इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही होगा. पुलिस का कहना है कि मृतक ने खुदकुशी कर ली है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें