kanu

kanu

उत्तरप्रदेश के कानपुर में रविवार को मुहर्रम का जुलूस निकाले जाने के दौरान साम्प्रदायिक तनाव हो गया. जिसके चलते करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए और आठ वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, परमपुरवा में मुहर्रम का जुलूस एक निश्चित मार्ग से निकाला जाना था लेकिन अचानक मार्ग बदल दिया गया जिससे दो पक्षों में विवाद हो गया. पूरे मामले में प्रशासन की लापरवाही सामने आई है. दरअसल, पहले ही कानपुर के कई इलाकों में माहौल बिगड़ने की आशंका जताई जा रही थी. इंटेलिजेंस ने भी इस बारे में आगाह किया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अतिरिक्त पुलिस निदेशक अविनाश चंद्र ने बताया, भारी पुलिस बल मौके पर भेजकर स्थिति पर काबू पा लिया गया है. पीएसी और आरएएफ़ की एक-एक कंपनी परमपुरवा में तैनात है. पुलिस ने अब तक 12 लोगो को हिरासत में लिया है.

वहीं रावतपुर में सुबह के हंगामे के बाद दोनों पक्षों में जमकर देशी बम और गोलियां चलीं. इसके अलावा बरेली में जोगी नवादा में प्रस्तावित रूट से ताजिया जुलूस आगे बढ़ाने पर बवाल हो गया. पीलीभीत में भी जुलुस के दौरान तनाव की खबर है. गोंडा के मसकनवां में मुहर्रम के जुलूस के दौरान राड फोड़ने के बाद विवाद बढ़ गया.

अंबेडकरनगर के आलापुर थाना क्षेत्र के न्योरी स्थित बाजार में ताजिया का जुलूस और मूर्ति विसर्जन एक ही रास्ते से निकलते समय दो संप्रदायों में जमकर बवाल हुआ. सम्भल में ताजिया और मेहंदी के जुलूस को लेकर रविवार को सम्भल में बवाल हो गया. सिसौटा में मेहंदी का जुलूस निकाल रहे लोगों पर पथराव किया गया.

Loading...