kanna

kanna

कर्नाटक में सभी स्कूलों के लिए कन्नड़ पढ़ाना अनिवार्य कर दिया गया है. राज्य की कांग्रेस सरकार ने सर्कुलर जारी कर राज्य के सभी स्कूलों से अनिवार्य रूप से कन्नड़ भाषा को पाठ्यक्रम में शामिल करने का आदेश दिया है.

एक अधिकारी ने कहा, ‘अनिवार्य कन्नड़ भाषा सभी स्कूलों में खुशी से अपनाई गई है और हम कन्नड़ सीखने के लिए छात्रों और माता-पिता को भी प्रोत्साहित करते हैं, हर किसी के लिए अपनी स्थानीय भाषा सीखना बहुत जरूरी है क्योंकि यह राज्य की संस्कृति और परंपराओं से जोड़ती है.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे नवंबर 2014 में पांच जजों की एक बेंच ने कन्नड़ को अनिवार्य बनाने पर रोक लगा दी थी. हालांकि सरकार के इस फैसले का लोगों ने समर्थन किया.

लेकिन दूसरी और स्कूलों विशेषकर इंग्लिश मीडियम के स्कूलों में फैसले को लेकर नाराजगी है. ऐसा करना हमारे लिए काफी मुश्किल होने वाला है. अभी छात्रों के पास अंग्रेजी, हिन्दी और कन्नड़ भाषाओं के विकल्प हैं.

बेंगलुरु के एक इंटरनैशनल स्कूल के प्रधानाचार्य ने कहा, ‘हम दो प्रमुख भाषाओं के रूप में कन्नड़ भाषा को महत्व देते हैं, लेकिन अगर छात्रों ने तीसरी भाषा के रूप में इसका चयन किया है तो हम क्या कर सकते है? हम किसी बच्चे को कन्नड़ को अपनी दूसरी भाषा के रूप में लेने के लिए बाध्य नहीं कर सकते.’