इंदौर. नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध-प्रदर्शनों पर पहले ही रोक लगाने वाली कमलनाथ सरकार अब प्रदर्शनों को रोकने के लिए न केवल पुलिस के जरिये जुल्म कर रही है। बल्कि प्रदर्शनकारियों को जेलों में भी डाल रही है।

ताजा मामला शहर के बड़वाली चौकी स्थित जामा मस्जिद के बाहर किए जा रहे प्रदर्शन से जुड़ा है। पुलिस ने आधी रात को प्रदर्शनकारियों को बुरी तरह पीटा। मामले में पुलिस द्वारा 27 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज भी किया गया है।

बता दें कि पूरे प्रदेश में CAA और NRC का विरोध रोकने के लिए उत्तर प्रदेश की तर्ज पर कमलनाथ सरकार ने धारा 144 लगाई हुई है। बावजूद पिछले दो दिनों से कुछ लोगों द्वारा नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में बड़वाली चौकी स्थित जामा मस्जिद के बाहर शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया जा रहा था।

गुरुवार रात को भी यहां सीएए का विरोध प्रदर्शन किया जा रहा था। प्रदर्शनकारियों के अनुसार आधी रात को अचानक पुलिस बल प्रदर्शन स्थल पर पहुंचा और प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाने लगा। इसका कुछ लोगों ने विरोध किया तो पुलिस द्वारा उनके साथ मारपीट की गई।

मामले के तूल पकड़ने पर अब पुलिस का कहना है कि प्रदर्शन स्थल पर कुछ बच्चों द्वारा ठंड से बचने के लिए आग जलाकर हाथ तापे जा रहे थे। इस दौरान चिंगारी उड़ी और वहां बिछी दरी ने आग पकड़ ली। यह देख कुछ पुलिसकर्मी आग को बुझाने लगे। आग से वहां उपस्थित प्रदर्शनकारियों को कोई नुकसान ना पहुंचे इसके चलते कुछ पुलिसकर्मी प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाने लगे।

प्रदर्शनकारियों को आग लगने की जानकारी नहीं थी अत: वह समझे की उन्हें प्रदर्शन स्थल से जबरन हटाया जा रहा है। इसके चलने प्रदर्शनकारियों ने विरोध प्रारंभ कर दिया। इसी बीच कुछ प्रदर्शनकारी नारेबाजी करते हुए कुंवर मंडली की तरफ जाने लगे, जहां कुछ अन्य लोग खड़े थे। जिन्होंने सीएए के समर्थन में नारेबाजी कर दी। स्थिति तनावपूर्ण बनते देख पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ना प्रारंभ कर दिया।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन