दिग्विजय सिंह की मांग पर कमलनाथ ने RSS कार्यालय पर फिर से बहाल की सुरक्षा व्यवस्था

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मध्य प्रदेश में आरएसएस के मध्य भारत प्रांत के कार्यालय से सुरक्षा हटा ली गई थी। जिसको लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अपनी ही सरकार पर सवाल उठा दिये थे। दिग्विजय सिंह ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री से तत्काल अपना फैसला वापस लेने को कहा था।

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया कि भोपाल में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ कार्यालय से सुरक्षा हटाना बिल्कुल उचित नहीं है। मैं मुख्य मंत्री कमलनाथ जी से अनुरोध करता हूँ कि तत्काल फिर पर्याप्त सुरक्षा देने के आदेश दें।

दिग्विजय सिंह के रुख के बाद मध्य प्रदेश पुलिस की तरफ से सफाई आई। पुलिस ने कहा कि चुनाव की वजह से सुरक्षा बलों की कमी थी हालांकि स्थानीय पुलिस आरएसएस दफ्तर की सुरक्षा कर रही है।

दिग्विजय सिंह की नाराजगी के बाद मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने कहा कि ये बात सच है कि हम आरएसएस के विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। लेकिन आरएसएस दफ्तर से सुरक्षा हटाने का वो समर्थन भी नहीं करते हैं। इस संबंध में पुलिस का स्पष्ट निर्देश दिया गया है कि वो संघ कार्यालय की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

साल 2009 में तत्कालीन सरसंघचालक केएस सुदर्शन ने पद से निवृत्त होने की घोषणा के बाद समिधा को अपना निवास स्थान बनाने का निर्णय लिया था। उसी दौरान कार्यालय का रिनोवेशन हुआ था। सुदर्शन को राज्य सरकार ने विशेष सुरक्षा प्रदान की थी। इसी वजह से यहां एसएएफ के गार्ड तैनात किए गए थे। 15 सितंबर 2012 को उनके निधन के बाद भी जवान यहां तैनात रहे।

विज्ञापन