लखनऊ: न्याय मंच और भारतीय निर्माण यूनियन की और से शहीद स्मारक पर विशाल मार्च निकाला जिसमे हजारो लोगों ने हिस्सा लिया.

इस मौके पर भारतीय निर्माण यूनियन व न्याय मंच के अध्यक्ष अमित मिश्रा ने कहा कि योगी सरकार की साम्प्रदायिक नीतियो से लाखो परिवार भूखमरी के कगार पर आ गये है और महीनो से चल रहे बन्दी के कारण भारी आर्थिक नुकसान की वजह से इन परिवारो के बच्चो का स्कूल में दाखिला नही हो पा रहा है उन्होने कहा की योगी सरकार का यह साम्प्रदायिक फैसला से दलितों, मुसलमानो के रोजी रोटी व शिक्षा के मौलिक अधिकार पर हमला है.

न्याय मंच के महासचिव ने कहा की प्रदेश में जब से योगी की सरकार बनी है तब से पूरे प्रदेश में युवा वाहिनी के साम्प्रदायिक गुण्डे समानान्तर सरकार चलाते हुए बिना किसी शासनादेश के मुस्लिमो दलितो व व्यपारियों से लूट मार कर रहें और पुलिस के मनोबल को तोड़कर पूरे प्रदेश में भगवा जंगल राज कायम हो गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

भारतीय निर्माण मजदूर यूनियन के महासचिव हरिशंकर ने कहा की केन्द्र की मोदी प्रदेश मे योगी सरकार समेत 17, राज्यो भाजपा की सरकारो के पास दलित गरीब मजदूर किसान व अल्पसंख्यक समुदाय के लिये कोई नीति नही हैं. इस कारण भाजपा की सरकारो मे भारी बेरोजगारी व मंहगाई बढी है. प्रदेश में कानून व्यवस्था का ये हाल है की जितने अपराध दूसरी सरकारो में एक साल में होते है वही योगी की सरकार में यह आकडे मात्र एक महीने में ही आसमान छू रहे है.

Loading...