प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया भर में डिजिटल इंडिया का गुणगान कर रहे है. वहीँ दूसरी और उनकी पार्टी के शासन वाले राज्य झारखंड में लोग भूख की वजह से जान से जा रहे है.

हाल ही में सिमडेगा के कारीमाटी गाँव में भूख की वजह से बच्ची की मौत का मामला सामने आया था. ऐसा ही  एक और मामला सामने आया है. धनबाद के झरिया के भालगढ़ा ताराबगान इलाके में एक रिक्शा चालक की भूख की वजह मौत हो गई.

40 वर्षीय मृतक वैद्यनाथ दास बेहद ही गरीब था. बीपीएल सूची में नाम न होने की वजह से वह बीते तीन सालों से  राशन कार्ड बनवाने के लिए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहा था. ऐसे में उसे किसी भी प्रकार की सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल रहा था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वैद्यनाथ के बेटे का कहना है कि अगर उनके पिता को गरीबों से जुड़ी योजनाओं का लाभ मिलता तो उनकी मौत नहीं होती.