Tuesday, January 25, 2022

रजनीकांत के बयान के बाद तमिलनाडु में बवाल, पेरियार की मूर्ति तोड़ी गई

- Advertisement -

तमिलनाडु के चेंगलपट्टू जिले में उथिरामेरुर कस्बे के पास कालियापट्टई गाँव में शुक्रवार को द्रविड़ विचारक पेरियार की एक मूर्ति को तोड़ दिया गया। जिसमे पेरियार की मूर्ति का दाहिना हाथ और चेहरा क्षतिग्रस्त हुआ।

सालवक्कम के पुलिस अधिकारियों ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारी घटना की जांच करने के लिए घटनास्थल पर पहुँच चुके। बता दें कि तमिल अभिनेता रजनीकांत ने यह कहकर विवाद खड़ा कर दिया था कि 1971 में पेरियार ने रैली के दौरान राम और सीता की मूतियाँ को बिना कपड़ों के परेड कराई थी और जूते पहनाए थे।

चेन्नई में रजनीकांत के घर के बाहर बुधवार को प्रदर्शन भी हुआ। जिसमे उनसे अपने बयान को वापस लेने की मांग की गई। हाल के वर्षों में तमिलनाडु में पेरियार की मूर्तियों के साथ कई घटनाएं हुई हैं। हाल ही में, पेरियार की एक प्रतिमा अप्रैल 2019 में पुदुकोट्टई जिले के पास अरन्थांगी शहर में तोड़ी गई थी।

मार्च 2018 में, वेल्लूर में दो शराबी पुरुषों द्वारा पेरियार की मूर्ति को ध्वस्त कर दिया गया था। महीनों बाद, सितंबर में, पेरियार की प्रतिमा को उनकी 139 वीं जयंती के दौरान अज्ञात पुरुषों ने अपवित्र कर दिया।

तिरुपुर जिले के धारापुरम में, समाज सुधारक की प्रतिमा के ऊपर एक जोड़ी चप्पल और एक ईंट रखी गई थी। चेन्नई के अन्ना सलाई में उसी दिन, जो शहर के एक वकील थे, जिन्होंने भाजपा के वकीलों की शाखा के सदस्य होने का दावा किया था, उन्हें समाज सुधारक की प्रतिमा पर जूते फेंके जाने के बाद गिरफ्तार किया गया था।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles