आजम खान की सांसदी को चुनौती देने वाली बीजेपी नेता जया प्रदा की याचिका खारिज

9:46 am Published by:-Hindi News

इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने फिल्म अभिनेत्री तथा बीजेपी नेता जया प्रदा की उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें रामपुर लोकसभा से आजम खां के चुनाव को चुनौती दी गई थी। याचिका जया प्रदा ने दायर की थी और तर्क उनके वकील अमर सिंह ने दिया था।

बीजेपी नेता ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में याचिका दायर कर कहा था कि सपा सांसद लाभ के दो पदों पर आसीन हैं इसलिए उनकी सांसदी को अयोग्य ठहराए जाना चाहिए। याचिका में कहा गया था कि आजम मौलाना जौहर अली विश्वविद्यालय के चांसलर और सांसद पद पर एकसाथ आसीन हैं। ऐसे में वह किस कानून अधिकार के तहत लाभ के दो पदों पर एकसाथ आसीन हैं।

याचिका में दलील दी गई है कि यह तय नियम है कि एक ही व्यक्ति लाभ के दो पदों पर नहीं रह सकता। इस नियम के मुताबिक आजम की कुलपति सीट को रद्द कर उन्हें रामपुर लोकसभा का सांसद घोषित किया जाए। कोर्ट ने उनकी याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई की। हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने कहा कि रामपुर उनके न्यायिक क्षेत्राधिकार में नहीं आता। मामले की सुनवाई इलाहाबाद बेंच के दायरे में आती है। ऐसे में लखनऊ बेंच इस मामले की सुनवाई नहीं कर सकती।

कोर्ट ने यह भी कहा कि रिट याचिका खुद कायम नहीं है और ऐसी परिस्थितियों में केवल चुनाव याचिका ही स्थानांतरित की जा सकती है। जया प्रदा के वकील राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने कहा कि अब हम इलाहाबाद हाई कोर्ट प्रयागराज में आजम खां के निर्वाचन को चुनौती देंगे। कोर्ट ने क्षेत्र के आधार पर आज याचिका खारिज की है।

जया प्रदा की इस याचिका के लिए राज्यसभा सांसद अमर सिंह भी वकील हैं। वकील अशोक पांडेय ने बताया कि अमर सिंह ने याचिका पर दस्तखत करने के साथ ही वकालतनामा भी दाखिल किया है। अमर सिंह ने वर्ष 1984 में अपना रजिस्ट्रेशन करवाया था और वो पहली बार बतौर वकील कोर्ट में पेश होंगे।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें