up police inhuman face disclose

सोमवार की रात हरियाणा के हिसार जिले के मिर्चपुर गांव में जाटों की हिंसा के कारण 40 दलित परिवारों को पलायन करना पड़ा हैं. इस हिंसा में  4 लोगों के घायल होने की खबर हैं. इस हिंसा के बाद इलाकें में हालात तनावपूर्ण हैं. जिसके बाद गांव में पुलिस बल तैनात किया गया हैं.

हिसार जिले के एसपी राजेन्द्र मीणा के अनुसार ‘घटना के आरोपी अपर कास्ट के 4 युवकों को गिरफ्तार कर लिया गया है. गांव छोड़कर गए परिवारों को पुलिस वापस उनके घरों में भेजने का प्रयास कर रही है. फिलहाल उन्हें हिसार की सरकारी मेस में रखा गया है.’

कहा जा रहा हैं कि ये हिंसा 2010 के एक मामलें से जुडी हैं. उस वक्त भी हिंसा हुई थी. गांव में हुई जाट और दलित हिंसा में एक 70 वर्षीय व्यक्ति और उसकी बेटी जो कि एक स्पेशल चाइल्ड थी, की हत्या कर दी गई थी और कई घरों को आग के हवाले कर दिया गया था.

इस हिंसा के बाद भी दलित परिवार गांव छोड़कर चले गए थे. बाद में कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद गांव में सीआरपीएफ की तैनाती की गई थी. जिसे हाल ही में हटाया गया है. नैशनल अलायंस फॉर दलित ह्यूमन राइट्स के स्टेट कोऑर्डिनेटर रजत कलसन का कहना है कि’ सोमवार को यह घटना इसलिए घटी क्योंकि लगाई गई सुरक्षा को हटा लिया गया है. हम दलितों के अधिकार के लिए फिर हाई कोर्ट का दरवाजा खटखाएंगे.’


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें