झारखंड के जमशेदपुर में हालात तनावपूर्ण है, बावजूद इसके प्रशासन पर दोहरा मापदंड अपनाते हुए एक तरफा कारवाई करने का आरोप लग रहा है. सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में साफ़ तौर पर इसे देखा भी जा सकता है. हालांकि कोहराम न्यूज़ इस वीडियो की पुष्टी नहीं करता है.

वीडियो में साफ़ नजर आ रहा है कि कुछ लोग मस्जिद पर पत्थर फेंक रहे है. इस दौरान पुलिसकर्मी भी मौजूद है लेकिन कोई कारवाई करने का बजाय खामोशी के साथ देख रही है. वीडियो मैंगो मुंसी मोहल्ला की मस्जिद पर हो रही पत्थरबाज़ी का बताया जा रहा है. वीडियो में दिख रहा है कि सड़क पर एक किनारे भीड़ इकट्ठा है. इस भीड़ में कुछ लड़कों ने भगवा रंग के कपड़ों में नजर आ रहे हैं. ये भीड़ सड़क के दूसरे किनारे पर बनी मस्जिद पर पत्थर फेंक रहे हैं.

धार्मिक स्थल पर पथराव के बाद जमशेदपुर शहर में भारी तनाव और उपद्रवियों से निपटने के लिए डीजीपी डीके पांडेय ने आइजी अभियान आशीष बत्रा के नेतृत्व में एक उच्चस्तरीय टीम गठित की है.  वे शनिवार शाम को पुलिस मुख्यालय में जमशेदपुर मामले की समीक्षा कर रहे थे. टीम में आइजी बत्रा के अलावा जैप डीआइजी सुधीर कुमार झा, विशेष शाखा और सीआइडी के एक-एक पुलिस अधीक्षक भी शामिल होंगे.

मानगो थाना में तोडफ़ोड़, हंगामा, आगजनी  व फायरिंग के मामले में कांग्रेसी नेता फिरोज खान, झामुमो नेता बाबर खान समेत 41 को नामजद करते हुए 500 अज्ञात के खिलाफ दंडाधिकारी राकेश कुमार के बयान पर मानगो थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है. वहीं दूसरी ओर धतकीडीह टीओपी में तोडफ़ोड़, पथराव व आगजनी मामले में 30 को नामजद करते हुए 70 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने बताया कि मानगो में बवाल करने के मामले में कुल आठ लोगों को अब तक हिरासत में लिया गया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?