jai1

jai1

पिंकसिटी जयपुर उस वक्त ब्लैक हो गई जब लाखों की तादाद में बुर्कानशीन मुस्लिम महिलाएं ट्रिपल तलाक बिल के विरोध में सड़कों पर आ उतरी.

मोदी सरकार विरोधी तख्तियों के साथ मौन जुलुस की शक्ल में मुस्लिम महिलाओं की यह रैली चार दरवाजा से शुरू होकर रामगंज, घाटगेट, सांगानेर रोड होते हुए मुस्लिम मुसाफिर खाना पहुंची तो इस रैली को देखकर हर कोई दंग रह गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल मीडिया द्वारा हमेशा यह ही प्रचारित किया जाता है कि मुस्लिम महिलाएं घरों में कैद की जिंदगी व्यतीत करती है. लेकिन शरीअत से मिले अपने अधिकारों के लिए ये महिलाएं बुर्का पहन कर सड़कों पर उतर आई.. मुसाफिर खाना में सभा के बाद मुस्लिम महिलाओं का 11 सदस्यीय दल ने राजभवन जाकर बिल के विरोध में राज्यपाल के नाम ज्ञापन भी सौंपा.

jai2

रैली में शामिल यासमीन फारूकी ने सवाल उठाते हुए कहा कि बिल की धारा 2 के अनुसार एक साथ तीन तलाक नहीं होगा व धारा 3 में तीन तलाक पर तीन साल की सजा का प्रावधान है. दलील है कि जब तलाक ही नहीं होगा तो उसकी सजा क्यों?

वहीँ फातिमा मुजफ्फर ने कहा, पूरी दुनिया में किसी भी समुदाय के कानूनों में बदलाव के लिए उससे जुड़े लोगों से राय ली जाती है जबकि यहां विरोध में 2.80 करोड़ दस्तखत नजर अंदाज किए गए और समुदाय से बात नहीं की गई. मुस्लिम महिलाएं इस्लामी शरीयत को अपनाना चाहती हैं, ऐसे में वे विरोध में हैं.

Loading...