img 20180611 wa0001

झारखंड के रांची मे रविवार की रात करीब 11 बजे तरावीह की नमाज पढ़ाकर लौट रहे मौलाना की जय श्रीराम का नारा लगाने से इंकार करने पर हॉकी और डंडे से की गई बेदर्दी से पिटाई के मामले मे चश्मदीद ने अपने बयान दिया है।

नगरी पुलिस स्टेशन के ऑफिसर इंचार्ज राम नारायण सिंह ने कहा है कि हमने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। हमला अचानक हुआ था। लेकिन इसके पीछे की वजह अभी तक साफ नहीं हो पाई है।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपियों ने ये बात कुबूल कर ली है कि उन लोगों ने करीब 25 साल के अजहर-उल-इस्लाम पर हमला किया था। अजहर अगड़ु बस्ती मस्जिद में मौलाना के रूप में पिछले एक साल से काम कर रहे हैं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पीड़ित के दोस्त मोहम्मद इमरान के मुताबिक, हमलावरों ने अजहर से जय श्री राम कहने को कह रहे थे। उसने बताया कि हम 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहे थे, तभी एक शख्स ने हमसे कहा- बोलो जय श्रीराम। हम कुछ बोल पाते इससे पहले एक शख्स ने अजहर के चहरे पर हॉकी से हमला कर दिया। हम बाइक से गिर गए। वो लोग अजहर को बुरी तरह पीट रहे थे। मैं किसी तरह भाग निकला। उन लोगों ने मेरा भी पीछा किया। लेकिन वो मुझे पकड़ नहीं सके।

बता  दें कि मोदी सरकार के चार साल पूरा होने और सरकार की उपलब्धियों को बताने के लिए भारतीय जनता युवा मोर्चा  (भाजयुमाे) द्वारा निकाली गयी रैली के बाद मौलाना के साथ ये पिटाई हुई थी।

Loading...