Sunday, June 20, 2021

 

 

 

आईएसआई नेटवर्क के जासूसों की पुलिस अफसरों से भी थी दोस्ती, 50 लाख की कर रहे थे सालाना कमाई

- Advertisement -
- Advertisement -

दुश्मन देश पाकिस्तान को भारत की सैन्य सुचना देने के मामलें में गिरफ्तार हुए बलराम सिंह के पुलिस अफसरों से भी अच्छे संबंध रहे हैं. सतना सीएसपी सीताराम यादव के साथ उसका एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस फोटों के सामने आने के बाद सतना एसपी मिथलेश शुक्ला ने इस मामले की जांच करवाने की बात कही है.

वहीँ सतना से गिरफ्तार राजीव उर्फ रज्जन तिवारी को कोर्ट ने 21 फरवरी तक रिमांड पर भेज दिया है. अदालत ने लिखा कि आरोपी राजीव तिवारी उर्फ रज्जन से पूछताछ होना है मामला भारत की आंतरिक सुरक्षा से संबंधित है. केंद्रीय जेल सतना को राजीव की गिरफ्तार और उसके रिमांड के संबंध में सूचना भेज दी गई है.

आरोपी राजीव उर्फ रज्जन को भारतीय दंड विधान की धारा 122,123 भारतीय बेतार तार यांत्रिक अधिनियम 1933 व 4,20,25 भारतीय तार अधिनियम 1885 के तहत गिरफ्तार किया गया है. वहीं इस मामले में ध्रुव सक्सेना, मनीष गांधी और मोहित अग्रवाल की रिमांड खत्म होने के पहले ही एटीएस ने तीनों को जेल भेजने की सिफारिश की. जिसे कोर्ट ने मंजूर करते हुए 27 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

ATS ने शुक्रवार को बलराम और राजीव का आमना-सामना करवाया। इस दौरान दोनों ने कई राज उगले. ATS के मुताबिक 110 बैंक खातों से बलराम ने एक साल में करीब पांच करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन किया है. इस रकम का दस फीसदी हिस्सा यानी 50 लाख रुपए बलराम का होता था. ISI की मदद करने पर तकरीबन इतनी ही कमाई रज्जन की भी होती थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles