आईक्यू का संगे बुनियाद, एक बड़े प्लान का पहला कदम – खालिद अयूब मिस्बाही शेरानी

11:33 am Published by:-Hindi News

अल-हम्दुलिल्लाह आज (16/ जून 2019 मुताबिक 12/ शव्वाल 1440 बरोज इतवार) एक देरीना ख्वाब शर्मिंदा ए ताबीर हुआ यानी इदार ए कुरआन (आई क्यू) का 11/ सादाते किराम, औलादे खुलफा ए सलासा (हजरत अबू बकर सिद्दीक, हजरत उमर फारूक और हजरत उस्मान गनी रजियल्लाहु तआला अन्हुम) और दूसरे उलेमा व मशाइख के मुबारक हाथों रिमझिम फुहारों के माहौल में संगे बुनियाद रखा गया जिसमें बड़ी तादाद में शेरानी बिरादरान ने शिरकत की और अपना हर तरह का तआवुन दर्ज करवाया।

इस मौके पर दरगाहे मोअल्ला अजमेर शरीफ से मेहमान ए खुसूसी के तौर पर शरीक हजरत सैयद मेहदी मियां साहब ने आई क्यू टीम की हौसला अफजाई करते हुए इदार ए कुरआन के प्लान को काबिले तकलीद और सुनहरे हर्फों से लिखे जाने लाइक बताया और मुसलमानों से इस तरह के अफकार व नजरियात का भरपूर सपोर्ट करने की अपील की। इसी तरह हजरत मौलाना काजी मोहम्मद अकरम उस्मानी शहर काजी मेड़ता सिटी, हजरत मौलाना सैयद मोहम्मद कादरी निगरां एस डी आई जयपुर, हजरत मौलाना काजी रईस अहमद सिद्दीकी जोधपुर, हजरत कारी मोहम्मद इरफान बरकाती जयपुर, मौलाना अब्दुल रशीद डीडवाना और हजरत मौलाना मोहम्मद इस्माईल मिस्बाही शेरानी ने आई क्यू प्लान को कदीम नाफे और जदीद सालेह का संगम और माडल करार देते हुए आई क्यू टीम की खूब हौसला अफजाई की।

खयाल रहे इदार ए कुरआन का बुनियादी प्लान यहहै कि स्टूडेंट 12वीं क्लास तक पहुंचते-पहुंचते मुकम्मल आलिमे दीन और डायरेक्ट कुरआन व सुन्नत से इस्तिफादा करने का अहल बन जाए। इदार ए कुरआन की मुजव्वजा बिल्डिंग (जिसका संगे बुनियाद रखा गया है) में इस संगम एजुकेशन सिस्टम के अलावा इस्लामिक लीडरशिप ट्रेनिंग सेंटर, इस्लामिक कॉल सेंटर, ऑन-लाइन दारुल इफ्ता, ई-टीचिंग और इस्लामिक स्टूडियो जैसे तकनीकी और मॉडर्न इस्लामिक प्लान भी शामिल हैं। इस मौके पर राजस्थान के जयपुर, जोधपुर, अजमेर, मेड़ता, बासनी, रोहल, नागौर, सीकर, सुजानगढ़, डीडवाना, बड़ी खाटू और अन्य कई जगहों के अलावा यूपी के जायस शरीफ से भी से सादात, उलेमा, मशाइख और अवाम भाइयों ने शिरकत की, सादात की दुआएं ली और इस मुबारक कदम की सराहना की।

खास तौर पर सैयद जमाल अशरफ़ अशरफ़ी जायस यूपी, मुफ्ती सैयद नुरुल ऐन चिश्ती अजमेर, सैयद अकील अहमद नूरी जयपुर, सैयद अब्दुल खालिक चिश्ती बड़ी खाटू, सैयद मुजाफ़िर चिश्ती बड़ी खाटू, मौलाना सुफ़यान फ़ारूक़ी सीकर, मौलाना अब्दुस सलाम सुजानगढ़, हाफिज गुलाम मोइनुद्दीन अजमेर, अलहाज रफअत अहमद जयपुर और अलहाज सगीर अहमद उर्फ लल्लू भैया जयपुर समेत अन्य उलेमा, मशाइख और जानी मानी हस्तियों ने शिरकत की। प्रोग्राम की सदारत हजरत मौलाना उमर फारुक खान रजवी और निजामत हजरत हाफिज मोहम्मद अशरफ बरकाती ने की जबकी दुआ हजरत सैयद मेहदी मियां चिश्ती और हजरत सैयद कलीम अशरफ जायसी ने की।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें