rajasamnd live murder 2078063 835x547 m

rajasamnd live murder 2078063 835x547 m

राजस्थान के राजसमंद में मुस्लिम बुजुर्ग मुहम्मद अफ्जरुल की निर्मम हत्या करने वाले वहशी दरिंदे शंभूलाल रेगर का भगवा संगठनों द्वारा सोशल मीडिया पर पहले से ही महिमामंडन जारी है. लेकिन अब हीरो बनाने के लिए रैलियों की तैयारियां भी शुरू कर दी गई है.

इसी क्रम में पुलिस ने माहौल बिगड़ने के अंदेशे को देखते हुए राजसमंद और उदयपुर ज़िलों में धारा 144 लागू कर दी है और इंटरनेट पर भी पाबंदी लगा दी है. जिला मजिस्ट्रेट विष्णुचंद मलिक के अनुसार मंगलवार रात 8 बजे से उदयपुर शहर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू की गई है. जिले में 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर  दी गई हैं.

बीबीसी के अनुसार, उदयपुर के आईजी आनंद श्रीवास्तव ने बताया, “अफ़राजुल की हत्या के बाद सोशल मीडिया पर कुछ नफरत फैलाने वाले संदेश प्रसारित किए जा रहे थे. इसे देखते हुए राजसमंद और उदयपुर ज़िलों में धारा 144 लागू कर दी गई है. आपत्तिजनक पोस्ट डालने और अफवाह फ़ैलाने के मामले में अब तक कुल छह लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. इनमें से चार लोगों को राजसमंद और दो को उदयपुर से गिरफ़्तार किया गया है.”

श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली थी कि कुछ लोग हत्या के अभियुक्त शंभूलाल रैगर के समर्थन में गुरुवार को राजसमंद में जुलूस निकालने की तैयारी कर रहे हैं. इनमें से कुछ लोग फ़ेसबुक, व्हाट्सएप और दूसरे सोशल मीडिया मंचों के जरिए उन्माद पैदा करने और माहौल बिगाड़ने में जुटे थे. इसे देखते हुए पुलिस ने एहतियाती कदम उठाए हैं. आईजी श्रीवास्तव ने ये भी जानकारी दी, “पुलिस ने उस बैंक खाते पर भी रोक लगा दी है, जिसमें शंभूलाल रैगर के लिए पैसा जमा कराने की बातें की जा रही थी.”

ध्यान रहे हिंदू संगठन ‘विश्व सनातन संघ’ के राष्ट्रीय प्रचारक उपदेश राणा ने सोशल मीडिया पर उदयपुर आने का ऐलान किया था, जिसके बाद माहौल बिगड़ने की शंका से उसकी उदयपुर में एंट्री पर रोक लगा दी गई है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें