बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को अब आगरा जेल भेजने के बजाय लखनऊ से बांदा जेल भेजा जा रहा है. मुख्तार अंसारी को सोमवार को लखनऊ जिला कारागार से आगरा सेंट्रल जेल भेजने का आदेश जारी किया गया था. जो अब निरस्त कर दिया गया हैं.

आगरा जेल भेजने का आदेश निरस्त करते हुए फिर उनकी जेल बदल दी गई हैं. अब गुरुवार की देर रात्रि तक मुख्तार को बांदा जेल में दाखिल किया जा सकता है. मुख्तार अंसारी छह साल तक आगरा की सेंट्रल जेल में रहे थे. उन्हें जून 2010 में मथुरा जेल से आगरा भेजा गया था. 20 जून 2016 को उन्हें सेंट्रल से लखनऊ जिला जेल स्थानांतरित किया गया था.

भाजपा की सरकार बनने के साथ ही इसमें तेजी आयी और 16 मार्च को एडीजी जेल जीएल मीणा ने मुख्तार को लखनऊ से आगरा जेल भेजने की सिफारिश की थी. अपर पुलिस महानिदेशक कारागार गोपाल लाल मीणा ने बताया कि मुख्तार को लखन से बांदा जिला कारागार में स्थानांतरित करने के आदेश जारी हो गए हैं.

इसी बीच विधानसभा में शपथ लेने पहुंचे मुख्तार अंसारी ने गाजीपुर के सांसद मनोज सिन्हा पर बृजेश सिन्हा के साथ मिलकर उनकी हत्या कराने का भी आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि इन दोनों नेताओं को राजनाथ सिंह का संरक्षण प्राप्त है. ऐसे में एक जेल से दूसरी जेल भेजने के दौरान बीच रास्तें में उनकी हत्या कराई जा सकती हैं.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?