west bengal

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के लिए मतदान मेंम जो सुरक्षा इन्तेज़मत किये गये थे अब धीरे-धीरे उनकी सच्चाई सामने आने लगी है. पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में मतदान के दौरान भारी हिंसा की खबरें सामने आई है. यहाँ अलग-अलग स्थानों पर हुई हिंसा में 40 से अधिक लोग घायल हो गए हैं और 6 लोगों के मारे जाने की खबर सामने आ रही है.

मिदा रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों से बूथ कैप्चरिंग, वोटरों को धमकाने और बैलट इधर-उधर करने की घटनाएं भी सामने आई है. आपको बता दें कि, बैरकपुर में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी को चाकू मार दिया गया है. इसके बाद फ़ौरन उन्हें अस्पताल ले जाया गया, तब तक उनके पेट मे चाकू लग हुआ था. उनके जख्म जानलेवा साबित हुए.

इसी के साथ उत्तरी 24 परगना में एक बम धमाके में 20 लोग घायल हुए है. इससे पहले कूचबिहार में दो गुटों के बीच झड़प में 20 लोग घायल हो गए थे. उत्तर दिनाजपुर में कुछ लोगों ने बैलट बॉक्स को ही आग के हवाले कर दिया गया था.  उत्तरी 24 परगना के अमडंगा के साधनपुर में एक बम विस्फोट किया गया जिसमें मौके पर 20 लोग घायल हो गए. बीरपाड़ा से सामने आए एक विडियो में कथित तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ता एक पोलिंग बूथ के बाहर लोगों को वोट डालने जाने से रोकते हुए नज़र आए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

आपको बता दें कि, अमडंगा के ही पांचपोटा में बम धमाके में एक सीपीएम कार्यकर्ता की मौत हो गई जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. अमडंगा के कुलताली में एक टीएमसी कार्यकर्ता आरिफ गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इसी के साथ उलुडंगा में बम धमाके में पांच लोग घायल हो गए. इससे पहले शनिवार को कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिस्ट) के एक कार्यकर्ता देबू दास और उसकी पत्नी ऊषा दास को जलाकर मार डालने की घटना भी सामने आई है.

Loading...