उर्स-ए-तहसीनी पर 12 सूत्री एजेंडा जारी, मुस्लिमों को आतंकवाद के नाम पर न फंसाया जाए

बरेली। उर्स-ए-तहसीनी के आखिरी रोज यहां मंच से तहसीनी कौमी एजेंडा जारी किया गया। इसमें मुस्लिमों को आतंकवाद के नाम पर फंसाने सहित शिक्षा, रोजगार और सुरक्षा जैसे तमाम मुद्दे उठाए गए।

यह 12 सूत्री एजेंडा खानकाह तहसीनिया के सज्जादानशीन मौलाना सुब्हान रजा खां नूरी की ओर से पेश किया गया। इसे मौलाना शकील ने पढ़कर सुनाया।

एजेंडे के अनुसार, आतंकवाद को मजहब से जोड़ना बंद करने और आतंकवाद के नाम पर झूठे मुकदमे में फंसाने वालों पर कार्रवाई की मांग रखी गई। इसके अलावा मुसलमानों को नौकरियों और कारोबार में बढ़ावा देने, दरगाहों की हिफाजत पर ध्यान देने, गोरक्षा के नाम पर मुसलमानों को आतंकित करने पर रोक लगाने की बात कही गई।

india muslim 690 020918052654

इसी क्रम में सुन्नियों को वक्फ बोर्ड में प्रतिनिधित्व देने, गोश्त की कीमत पर लगाम लगाने, मुस्लिम बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने पर खास जोर दिया गया। मुस्लिम इलाकों में बैंक न खुलवाने और साफ-सफाई का भी इंतजाम न होने का मुद्दा भी उठा।

दरगाह प्रवक्ता सगीर उद्दीन नूरी ने बताया कि यह एजेंडा जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा जाएगा। इसके अलावा एजेंडा की प्रति अन्य संवेधानिक जिम्मेदारों को भी भेजी जाएगी।

विज्ञापन