पटनाः बिहार चुनाव का बिग़ुल बज चुका है, जिसके मद्देनज़र अब नेताओं की बयानबाजी का सिलसिला भी शुरु हो गया है। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलेमीन के सांसद असद ओवैसी ने बिहार की जनता से आह्वान किया है कि अगर आप भी कांग्रेस और राजद की ग़ुलामी से तंग हैं तो हमारा साथ दीजिये।

ओवैसी ने कहा कि वोट कटुआ कौन है? वही जिसने आपका वोट लिया ज़रूर था, लेकिन मरहूम मौलाना क़ासमी को ट्रिपल तलाक़ बिल पर बोलने की इजाज़त नहीं दी। वही जिसने ‘वोट कटवों’ के डर से नितीश को जितवा दिया, और नितीश जा कर मोदी के गोद में बैठ गया। अगर आप भी कांग्रेस और राजद की ग़ुलामी से तंग हैं तो हमारा साथ दीजिये। अपना वोट ज़ाया जाने न दें। मजलिस आपके मुद्दों को पूरी बेबाकी और ईमानदारी से उठाएगी। हम कभी ज़ालिम से समझौता नहीं करेंगे। मजलिस में बुज़दिली की कोई जगह नहीं है।

जानकारी के लिये बता दें कि ओवैसी की पार्टी ने साल 2019 में बिहार के किशनगंज विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में जीत दर्ज की थी। इसके बाद से ओवैसी की पार्टी के कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद हैं। इस बार बिहार विधानसभा चुनाव में ओवैसी ने समाजवादी जनता दल पार्टी से गठबंधन किया है।

कयास लगाए जा रहे हैं कि ओवैसी की पार्टी बिहार में बसपा से भी गठबंधन कर सकती है। हालांकि बसपा का बिहार में जनाधार नहीं है। मौजूदा विधानसभा में बसपा का एक भी विधायक नहीं है, जबकि ओवैसी की पार्टी का एक विधायक है।