शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक महिला की जान बचाने के लिए इस्लामिक लिबास ‘बुर्का’ उसका सुरक्षा कवच बना हुआ हैं.

दरअसल, जलालाबाद थाना क्षेत्र के खाई खेड़ा गांव के प्रेम चंद्र से 35 वर्षीय महिला नीलम की शादी हुई थी. इस शादी से नीलम के दो बच्चे हैं. 6 साल पहले बीमारी के चलते उसके पति की मौत हो गई. पीड़िता के अनुसार उसके पति के नाम पर बीस बीघा जमीन हैं. जिस पर उसका पति खेती करता था.

पीडिता के अनुसार, इस जमीन पर पति की मौत के बाद से ही उसके ससुराल वालों ने कब्ज़ा जमा रखा हैं. इसके लिए उसके  सास-ससुर ने उसके देवर के साथ शादी का झांसा दिया. जिसके बाद उसका देवर उसके साथ जबरन दुष्कर्म करता रहा. पीड़िता ने विरोध किया तो बच्चों को भी जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ मारपीट की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पीड़िता ने देवर सहित पुरे ससुराल वालों के खिलाफ पुलिस के पास शिकायत की हुई हैं. तीन महीने का वक्त गुजर जाने के बाद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कारवाई नहीं हुई. उल्टा अब महिला को जान से मारने की धमकी भी मिल रही है. पीड़िता को अब अपनी जान बचाने के लिए बुर्के में रहना पड़ रहा हैं.

Loading...